दोपहिया व वाणिज्यिक वाहन रफ्तार में

शैली सेठ मोहिले | मुंबई Jan 03, 2018 11:20 PM IST

जोरदार रही बिक्री

नोटबंदी के प्रभाव को धत्ता बताते हुए दोपहिया और वाणिज्यिक वाहन विनिर्माताओं ने कैलेंडर वर्ष 2017 में दमदार बिक्री दर्ज की। कंपनियों की ओर से जारी मासिक बिक्री आंकड़ों से पता चलता है कि दिसंबर 2017 में इन वाहनों की बिक्री रफ्तार अधिक रही। नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद के महीने के कमजोर आधार के कारण पिछले साल के मुकाबले बिक्री अधिक दिखी। भारी छूट और आकर्षक फाइनैंस स्कीम के कारण पिछले महीने ट्रकों की बिक्री रफ्तार दमदार रही। जबकि दोपहिया कंपनियों की बिक्री को डीलरों के लिए अधिक डिस्पैच से बल मिला। बिक्री में तेजी इस साल के अंत तक बरकरार रहने की उम्मीद है क्योंकि विनिर्माता अपने सालाना लक्ष्य को हासिल करने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं।

दिसंबर 2016 के दौरान भारत में वाहनों की बिक्री में 18.66 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी जो पिछले 16 वर्षों की सबसे बड़ी गिरावट थी। वाहन विनिर्माताओं के संगठन सायम के अनुसार, इससे पहले 2000 में सबसे अधिक 21.81 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। दोपहिया कंपनियों में बाजार की अग्रणी हीरो मोटोकॉर्प की दिसंबर बिक्री में सबसे अधिक वृद्धि रही। स्प्लेंडर और ग्लैमर मॉडल की बाइक बनाने वाली कंपनी की बिक्री में इस दौरान पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 43 फीसदी की वृद्धि हुई। पवन मुंजाल के नेतृत्व वाली इस कंपनी की ग्रामीण बिक्री को नोटबंदी का सबसे अधिक झटका लगा था।

भारतीय रिजर्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार, देश में 93 फीसदी ग्रामीण केंदों को बैंकिंग सुविधा नहीं मिल पाई थी।  दोपहिया बाजार की दूसरी बड़ी कंपनी होंडा मोटरसाइकल ऐंड स्कूटर इंडिया ने दिसंबर में हुई बिक्री का खुलासा नहीं किया है। जबकि बजाज ऑटो, टीवीएस और रॉयल एनफील्ड जैसी अन्य दोपहिया कंपनियों के लिए दिसंबर की बिक्री बेहतर रही। बजाज ऑटो की बिक्री में 6 फीसदी, टीवीएस की बिक्री में 35 फीसदी और रॉयल एनफील्ड की बिक्री में 16 फीसदी की वृद्धि रही। जबकि सुजूकी मोटरसाइकल की बिक्री भी 50 फीसदी बढ़ गई।

इक्रा के विश्लेषक सुब्रत रे ने कहा कि दोपहिया बाजार को कमजोर आधार और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के कारण आई सुस्ती का लाभ मिलना अभी जारी रहेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह क्षेत्र 8 से 10 फीसदी की वृद्धि के साथ चालू वित्त वर्ष को अलविदा करेगा। दिसंबर में आयशर मोटर्स और महिंद्रा ऐंड महिंद्रा के ट्रकों और बसों की बिक्री में भी पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले क्रमश: 49.5 फीसदी और 24 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।
कीवर्ड दोपहिया, वाणिज्यिक वाहन, ट्रक, सायम, हीरो मोटोकॉर्प, बजाज ऑटो, टीवीएस, रॉयल एनफील्ड,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक