आईसीआईसीआई बैंक बॉन्ड से जुटाएगा 10 हजार करोड़ रु.

अभिजित लेले | मुंबई Aug 16, 2017 09:38 PM IST

आईसीआईसीआई बैंक ने पूंजी आधार और कारोबारी बढ़त के लिए टियर-1 बॉन्ड के जरिए 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई है। रेटिंग एजेंसी इक्रा ने निजी बैंक के प्रस्तावित पेशकश को एए प्लस (हाइब्रिड) रेटिंग दी है। इसे हाइब्रिड से जुड़ाव वाली प्रतिभूति के तौर पर बताया गया है, जिसमें इक्विटी की तरह नुकसान को समाहित करने की विशेषता है। इक्रा ने कहा, अपर्याप्त लाभ या नुकसान के दौरान वितरण योग्य रिजर्व का इस्तेमाल ब्याज भुगतान के लिए किया जा सकता है और यह 30 जून को जोखिम भारांक संपत्तियों के 10.4 फीसदी के सहज स्तर पर था। ब्याज भुगतान के लिए उपलब्ध रिजर्व मार्च 2016 में जोखिम भारांक संपत्तियों का 7.7 फीसदी था, जो मार्च 2017 में सुधरकर 9.9 फीसदी पर पहुंच गया। जून के आखिर में पूंजी पर्याप्तता अनुपात 17.89 फीसदी था। संसाधन की स्थिति बेहतर है और इसके चालू व बचत खाता वाली जमाओं में कम लागत वाली जमाओं की हिस्सेदारी जून के आखिर में 49 फीसदी थी।
 
मार्च के आखिर में इसका लोनबुक 4,64,232 करोड़ रुपये का था और बैंकिंग क्षेत्र की उधारी में इसकी बाजार हिस्सेदारी छह फीसदी थी। अप्रैल-जून तिमाही में देसी लोनबुक में 10.9 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई। कुल मिलाकर जून के आखिर में लोनबुक 4,64,075 करोड़ रुपये था। इक्रा ने कहा, इस वित्त वर्ष में लोन बुक में कुल मिलाकर 10-12 फीसदी की बढ़ोतरी की उम्मीद है, जो बैंकिंग क्षेत्र के लिए अनुमानित 7 से 8 फीसदी की बढ़त के मुकाबले ज्यादा है। इसका मानना है कि संपत्ति की गुणवत्ता से जुड़ी चुनौतियों आदि के चलते अल्पावधि में लाभ पर दबाव बना रहेगा। हालांकि परिचालन लागत स्थिर बनी रहने की संभावना है। इसमें कहा गया है कि बैंक के पास उच्च पूंजी आधार के लिहाज से अतिरिक्त क्षमता है और निवेश के मुद्रीकरण की भी क्षमता इसके पास है। फंड की लागत में सीमित गिरावट की संभावना के चलते शुद्ध ब्याज मार्जिन पर मध्यम अवधि में दबाव बना रह सकता है। मौजूदा फ्लोटिंग दर वाले कर्ज की दोबारा कीमत और फंसे कर्ज के चलते कम आय अर्जित करने वाली संपत्तियां मार्जिन पर असर डाल रही है। 
कीवर्ड share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर, bond, icici,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक