एसबीआई को दिव्य व भव्य बैंक बनाना चाहते हैं नए चेयरमैन

अभिजित लेले | मुंबई Oct 09, 2017 09:42 PM IST

भारतीय स्टेट बैंक के नए चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा है कि उच्च प्रतिस्पर्धा वाले बाजार में आगे बने रहने के लिए अपने हितधारकों के साथ शिष्टता और अच्छा व्यवहार अहम है। अच्छे व्यवहार और कॉरपोरेट गवर्नेंस की आधारशिला पर अपने सहयोगियों के साथ मिलकर उनका सपना देश के सबसे बड़े बैंक को दिव्य व भव्य बैंक के रूप में तब्दील करने का है। एसबीआई समूह के कर्मचारियों के साथ पहले संदेश में उन्होंने कहा, यह बैंक अपने कर्मचारियों की तरह अच्छा है। ये कर्मचारी बैंक का चेहरा हैं।
 
इन्होंने एसबीआई ब्रांड को वहां पहुंचाया है, जहां वह अभी है। उन्होंंने कहा, हमारे पास अच्छी योजनाएं, तकनीक आदि हो सकती हैं, लेकिन अगर हम अपने ग्राहकों के प्रति शिष्ट नहीं हैं तो हमारा कारोबार टिका नहीं रहेगा। हम प्रगति नहीं करेंगे। शिष्टता ही बैंक को महान बनाता है। चेयरमैन ने कहा, मैंने कहीं पढ़ा है कि कोई व्यक्ति मुस्कुराहट के बिना अपनी दुकान नहीं खोलते। यह किसी सेवा संगठन की सबसे अच्छी भंगिमा है, जो हमने अभी तक देखी है। बैंकिंग को निश्चित तौर पर मजबूत नैतिक मानकों का पालन करना चाहिए। इसके लिए व्यवहार सही होना चाहिए। लेकिन अच्छे व्यवहार के लिए जरूरी है कि हम प्रशासन के नियम और मजबूत नैतिकता का पालन करें।
कीवर्ड bank, loan, debt, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई),

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक