300 शाखाएं स्थानांतरित या बंद करेगा पंजाब नैशनल बैंक

अभिजित लेले | मुंबई Nov 07, 2017 09:49 PM IST

दिल्ली स्थित सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक पंजाब नैशनल बैंक ने अपनी शाखाओं को तर्कसंगत बनाने की योजना बनाई है। बैंक अगले 12 महीने में घाटे में चल रही अपनी 300 शाखाओं को बंद करने या दूसरी जगह स्थानांतरित करने पर काम कर रहा है।  बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी सुनील मेहता ने कहा कि पहली प्राथमिकता कारोबारी रणनीति में बदलाव कर शाखाओं को घाटे से उबारकर लाभकारी बनाने की है। बैंक ने वरिष्ठ अधिकारियों का एक समूह बनाया है, जो विस्तृत अध्ययन कर शाखाओं के नेटवर्क को तर्कसंगत बनाने की रणनीति बनाएगा। 
 
शाखाओं का भविष्य तय करने के पहले बैंक कारोबारी पहलुओं, आसपास के प्रतिस्पर्धी स्थलों और बैंक के बिजनेस करेस्पॉन्डेंट (बीसी) नेटवर्क की उपलब्धता पर विचार करेगा।  31 मार्च 2017 तक के आंकड़ों के मुताबिक बैंक की 6937 शाखाएं हैं और वह बड़े नेटवर्क वाले बैंकों में से एक है। बगैर बैंंक वाले इलाकों में बैंकिंग सेवाएं मुहैया कराने के लिए पीएनबी ने पिछले वित्त वर्ष में 178 नई शाखाएं खोली हैं। वहीं चालू वित्त वर्ष के पहले 6 महीने में बैंक की सिर्फ 3 नई शाखाएं खुली हैं, जिससे बैंक की शाखाओं की कुल संख्या सितंबर 2017 में 6940 हो गई है।
 
पीएनबी के अधिकारियों ने कहा कि डिजिटल बैंङ्क्षकग जगह बना रहा है और बीसी नेटवर्क का तेजी से विस्तार हो रहा है, जिससे देश भर में नेटवर्क बढ़ाने में मदद मिल रही है। इसकी वजह से नेटवर्क के बड़े पैमाने पर विस्तार की जरूरत कम हुई है। सितंबर 2017 तक के आंकड़ों के मुताबिक पीएनबी के 10 करोड़ उपभोक्ता हैं, जिसकी 6,940 शाखाएं, 9753 एटीएम, 8,224 बीसी आउटलेट हैं। 
 
मेहता ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक की नई नीति में शाखाओं व आउटलेट्स को दूसरी जगह स्थानांतरित करने को लेकर लचीलापन मुहैया कराया गया है। रिजर्व बैंक ने बैंकिंग आउटलेट नीत में मई 2017 में बदलाव किया है और बैंकों को शाखाएं खोलने, उन्हें स्थानांतरित करने और बंद करने को लेकर ज्यादा स्वतंत्रता दी है।  बैंक सभी 'बैंकिंग आउटलेट' (ग्रामीण आउटलेट और अर्थशहरी एकल आउटलेट को छोड़कर) को बंद करने, स्थानांतरित करने या विलय करने के बारे में अपने विवेकानुसार फैसला कर सकते हैं। 
कीवर्ड PNB, bank, delhi,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक