'हमें एक ऐसा व्यक्ति मिला है जिसे खुदरा की अच्छी समझ है'

अनूप रॉय |  Jan 14, 2018 09:53 PM IST

आईडीएफसी बैंक और वारबर्ग पिंकस के निवेश वाली कैपिटल फस्र्ट ने पूर्ण शेयर सौदे के तहत विलय की घोषणा की है। कैपिटल फस्र्ट के चेयरमैन वी वैद्यनाथन आईडीएफसी बैंक केएमडी एवं सीईओ राजीव लाल की जगह लेंगे। जब कि लाल आईडीएफसी बैंक के गैर-कार्यकारी चेयरमैन होंगे। लाल का कहना है कि कैपिटल फस्र्ट के साथ विलय से एक ही झटके में तीन साल की वृद्धि हासिल होगी। अनूप रॉय से बातचीत के मुख्य अंश:

 
सीईओ पद आप क्यों छोड़ रहे हैं?
 
जैसा आप जानते हैं कि पिछले कुछ समय से हम बैंक में खुदरा कारोबार को बढ़ावा देने के लिए एक खुदरा कारोबार के प्रमुख की तलाश कर रहे थे। वास्तव में यह सबसे बढिय़ा रहेगा क्योंकि हमें एक ऐसा व्यक्ति मिला है जिन्हें खुदरा कारोबार की अच्छी समझ है। उन्हें न केवल खुदरा में बल्कि सामान्य बैंकिंग में भी व्यापक अनुभव प्राप्त है। उन्हें टीम बनाने और संस्थान खड़ा करने का अच्छा अनुभव है और इसलिए अब मैं आगे बढ़ते हुए संरक्षक की भूमिका निभा सकता हूं। 
 
क्या नए नेतृत्व में भी बड़े पैमाने पर खुदरा कारोबार और आक्रामक अधिग्रहण संबंधी आपकी रणनीति बरकार रहेगी?
 
निस्संदेह बड़े पैमाने पर खुदरा कारोबार की रणनीति जारी रहेगी। अब हम कितने अधिग्रहण करेंगे उसे देखना होगा लेकिन इन मुद्दों पर अब वैïद्यनाथन को विचार करना होगा। फिलहाल हम विलय प्रक्रिया को पूरा करने और सही तरीके से एकीकरण सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। अभी हम इसके अलावा कुछ और नहीं सोच रहे हैं।
 
विलय पूरा होने में कितना समय लगेगा?
 
इसके लिए हमें विभिन्न अनुमान मिल रहे हैं। हम करीब नौ महीने में इसे पूरा करने की योजना बना रहे हैं।
 
क्या शेयरधारक इस योजना से सहमत हैं?
 
हमारा मानना है कि यह काफी अच्छा सौदा है क्योंकि इससे वास्तव में मूल्यवृद्धि होगी। यह कम से कम तीन साल की वृद्धि हासिल करने के लिए बैंक को रफ्तार देगा। इस सौदे के बिना हमारी आय सुस्त पड़ जाती क्योंकि हमें अपनी शाखाओं का नेटवर्क तैयार करने और सीएएसए (चालू एवं बचत खाता) फ्रैंचाइजी पर काफी निवेश करना पड़ता। इसलिए इससे हमें बेहतर आय के अलावा सीएएसए फ्रैंचाइजी के आक्रामक विस्तार में भी मदद मिलेगी। मैं समझता हूं कि शेयरधारक इसका स्वागत करेंगे।
 
क्या आप मानते हैं कि यह विलय श्रीराम के साथ आपकी मूल योजना का एक अच्छा विकल्प है?
 
हलवे का सबूत खाने में होता है। इसलिए यदि कोई सौदा नहीं हुआ तो वह अच्छा सौदा नहीं होता। जो सौदा होता है वही अच्छा होता है। इसलिए यह एक अच्छा सौदा है।
 
भविष्य के लिए आपकी क्या योजना है?
 
मेरी भविष्य की योजना इस सौदे को सफल बनाने पर ध्यान केंद्रित करने से संबंधित है। इस पर विस्तार से विचार करने के लिए हमारे पास काफी समय उपलब्ध है।
कीवर्ड IDFC bank, capital,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक