मूडीज, फिच ने रेटिंग पर चेताया

बीएस संवाददाता | मुंबई Feb 20, 2018 10:10 PM IST

अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसियों मूडीज इन्वेस्टर सर्विस और फिच रेटिंग ने आज घोटाले से घिरे पंजाब नैशनल बैंक की रेटिंग घटाने की चेतावनी दी। फिच व मूडीज ने इस लेनदार को निगरानी की श्रेणी में डाल दिया और इसकी संभावित तौर पर डाउनग्रेडिंग हो सकती है।  मूडीज ने बैंक के बेसलाइन क्रेडिट असेसमेंट (बीसीए) और समायोजित बीसीए के अलावा काउंटरपार्टी रिस्क असेसमेंट (सीआरए) की डाउनग्रेडिंग के लिए समीक्षा के दायरे में डाल दिया है। धोखाधड़ी वाले कई मामले का पता चला है, लिहाजा बैंक के एकल क्रेडिट प्रोफाइल में कमजोरी का जोखिम है और रेटिंग पर कदम उठाने की यही मुख्य वजह है।
 
ऐसे समय में फिच रेटिंग ने पीएनबी की व्यावहार्यता रेटिंग बीबी को रेटिंग वॉच निगेटिव (आरडब्ल्यूएन) कर दिया है। नियंत्रण में नाकामी और बीएनबी की वित्तीय स्थिति पर इसके असर पर और स्पष्टता आने के बाद फिच आगे कदम बढ़ाएगा। आरडब्ल्यूएन पीएनबी की व्यवहार्यता रेटिंग में गिरावट की संभावना को प्रतिबिंबित करता है। फिच ने एक बयान में कहा, हमारा मानना है कि सरकार की तरफ से पीएनबी को असाधारण सहायता की संभावना काफी ज्यादा बनी हुई है। मूडीज ने भी माना कि सरकार की तरफ से पीएनबी को समर्थन दिए जाने की संभावना है। मूडीज ने यह भी कहा कि अगले 12 से 18 महीने में पीएनबी की रेटिंग को उन्नत बनाए जाने की संभावना कम है।
 
इस घटनाक्रम के वित्तीय असर का वास्तविक आकलन होना अभी बाकी है, लेकिन धोखाधड़ी बैंक के कमजोर आंतरिक नियंत्रण और कॉरपोरेट गवर्र्नेंस को रेखांकित करता है। फिच ने कहा कि धोखाधड़ी ने प्रबंधन की निगरानी की गुणवत्ता पर सवाल उठाया है, यह मानते हुए कि कई सालोंं तक इसका पता नहीं चल पाया। दोनों एजेंंसियों ने कहा कि धोखाधड़ी का इसकी पूंजीगत स्थिति पर नकारात्मक असर पड़ेगा। एजेंसियों ने कहा कि बैंक की छवि पर असर पड़ा है, जिसके चलते शेयर में गिरावट आ रही है और इस तरह से इक्विटी बाजार से रकम जुटाने की इसकी क्षमता सीमित हो गई है। दिसंबर 2018 में समाप्त नौ महीने की अवधि में पीएनबी का एनपीए अनुपात 12.1 फीसदी रहा है, जो वित्त वर्ष 2017 में 12.5 फीसदी रहा था।
 
इसका सीईटी-1 अनुपात भी सुधरकर 8.05 फीसदी पर पहुंच गया है, जो पहले 7.9 फीसदी रहा था। लाभप्रदता कमजोर बनी हुई है, लेकिन बैंंक ने वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में बाजार से 50 अरब रुपये की इक्विटी जुटाई। पीएनबी को मार्च 2018 के आखिर तक सरकार की पुनर्पूंजीकरण योजना के तहत 54 अरब रुपये की अतिरिकक्त पूंजी मिल सकती है। 
कीवर्ड nirav modi, bank, loan, debt, PNB, fraud,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक