'भागे नहीं, कारोबार के लिए बाहर गए हैं नीरव'

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Feb 21, 2018 09:51 PM IST

देश से बाहर चले गए कारोबारी नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि पीएनबी की तरफ से किसी वाणिज्यिक लेनदेन को धोखाधड़ी कहना गलत है। पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी हालांकि अभी तक पकड़ से दूर हैं, लेकिन मंगलवार को इस मामले में सीबीआई ने मोदी की फायर स्टार डायमंड के अध्यक्ष (वित्त) विपुल अंबानी को हिरासत में लिया। मंगलवार को ही आयकर विभाग ने पीएनबी के प्रबंध निदेशक व सीईओ सुनील मेहता से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई ने पीएनबी के कार्यकारी निदेशक व अन्य नौ अधिकारियों से भी पूछताछ की। उधर, सीबीआई की विशेष अदालत ने सोमवार को हिरासत में लिए गए पीएनबी के तीन कर्मियों बी तिवारी, यशवंत जोशी और प्रफुल्ल सावंत को 3 मार्च तक के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया।
 
मोदी के वकील ने किसी तरह की धोखाधड़ी से इनकार किया है। नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि पीएनबी ने वाणिज्यिक लेनदेन को धोखाधड़ी बताया है। पीएनबी ने मेहुल चोकसी, उनके परिजन और मेहुल चोकसी के खिलाफ दो शिकायत दर्ज कराई है। अग्रवाल ने कहा, पूरा मामला बैंक की जानकारी में था। बैंंक ने करोड़ों रुपये कमीशन के तौर पर लिए, लेकिन अब इसे स्वीकार नहीं कर रहा है। यह बैंक का वाणिज्यिक लेनदेन था, जिसे अब घोखाधड़ी कहा जा रहा है। अग्रवाल ने इस रिपोर्ट को भी खारिज कर दिया कि मामला सामने आने के बाद नीरव मोदी भाग गए हैं और सवाल उठाया कि वह 5,000 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां देश में छोड़कर वह क्यों भागेंगे। वह भागे नहीं है बल्कि उनके पास वैश्विक स्तर पर कारोबार है। वह मामला सामने आने से पहले से ही कारोबार के लिए बाहर हैं। उन्होंने कहा, सीबीआई की तरफ से चार्जशीट दाखिल किे जाने के बाद इस मामले में आगे की रणनीति तय की जाएगी। मोदी का कारोबार बंद हो गया है, बैंक खाते जब्त हो गए हैं और स्टोर बंद हैं। वकील ने धोटाले की रकम को लेकर भी सवाल उठाया। मोदी चाहते हैं कि बैंक उनके 2,000 कर्मियों को वेतन का भुगतान करे। घोटाला सामने आने से पहले मोदी ने बैंक को लिखे पत्र में ये बातें कही थी।
कीवर्ड nirav modi, bank, loan, debt, PNB, fraud,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक