515 करोड़ रुपये के घोटाले में आरपी इन्फो सिस्टम्स की तलाशी

एजेंसियां |  Feb 28, 2018 09:06 PM IST

बैंकों को एक कंसोर्टियम के साथ 515.15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने बुधवार को कंप्यूटर विनिर्माता आर पी इन्फो सिस्टम्स व इसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया और कोलकाता में इसके छह ठिकानों की तलाशी ली। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। आरोप है कि कंपनी के निदेशकों शिवजी पांजा, कौस्तुभ रे और विनय बाफना और इसके उपाध्यक्ष ने केनरा बैंक व बैंंक कंसोर्टियम के नौ अन्य सदस्यों के साथ 515.15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। सीबीआई ने आज सभी आरोपियों के आवास व कंपनी के कॉरपोरेट कार्यालय कोलकाता की तलाशी ली। 
 
यह पहला मौका नहीं है जब कंपनी ने कानून के साथ खिलवाड़ किया है क्योंकि सीबीआई ने आईडीबीआई बैंक के साथ धोखाधड़ी के आरोप में साल 2015 में इसके खिलाफ मामला दर्ज किया था और इसमें बैंक के 180 करोड़ रुपये फंस गए। आईडीबीआई बैंक कभी इस कंसोर्टियम का अग्रणी बैंक था। इसके अन्य सदस्य हैं भारतीय स्टेट बैंक, स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर ऐंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नैशनल बैंक, फेडरल बैंक। आरोप है कि कंपनी ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कर्ज हासिल किया।
कीवर्ड nirav modi, bank, loan, debt, PNB, fraud,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक