पीएनबी के महाप्रबंधक से पूछताछ

एजेंसियां | नई दिल्ली Mar 05, 2018 10:22 PM IST

सीबीआई ने आज पंजाब नैशनल के महाप्रबंधक से पूछताछ की, जो ट्रेजरी विभाग संभालते हैं। यह मामला हीरा कारोबारी नीरव मोदी व उनके मामा मेहुल चोकसी की तरफ से बैंक के साथ की गई 12,636 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी से जुड़ा है। यह पूछताछ सीबीआई की तरफ से मोदी समूह की कंपनियों के दो कर्मचारियों व एक ऑडिटर के अलावा गीतांजलि समूह की कंपनियों के एक निदेशक की गिरफ्तारी के एक दिन बाद हुई। एजेंसी के अधिकारी ने कहा, पीएनबी के महाप्रबंधक (ट्रेजरी) एस के चंद से सीबीआई न धोखाधड़ी मामले में पूछताछ की। पीएनबी के अधिकारियों ने यह सूचना कथित तौर पर एंटवर्प, हॉन्ग कॉन्ग, बहरीन, मॉरीशस और फ्रैंकफर्ट स्थिर भारतीय बैंकों केनरा बैंक, एसबीआई, बैंक ऑफ इंडिया, ऐक्सिस बैंक, इलाहाबाद बैंक की शाखाओं को भेजी। स्विफ्ट के तहत पीएनबी से संदेश मिलने के बाद भारतीय बैंक की विदेशी शाखाओं ने यह रकम पीएनबी के नोस्ट्रो खाते में हस्तांतरित कर दी।

 

चार आरोपी 17 तक सीबीआई हिरासत में
सीबीआई की विशेष अदालत आज बैंक धोखाधड़ी में गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों को 17 मार्च तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया। सीबीआई ने इन्हें रविवार को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार लोगों में फायरस्टार इंटरनैशनल के एजीएम (ऑपरेशन) मनीष के बोसामिया, वित्त प्रबंधक मिटेल अनिल पांड्या शामिल हैं। इसके अलावा संपत ऐंड मेहता के पार्टनर संजय रांभिया और मेहुल चोकसी की फर्म गिली इंडिया के निदेशक ए एस रमन नायर को भी रविवार को हिरासत में लिया गया था। इसके अलावा सीबीआई अदालत ने पिछले महीने इस मामले में गिरफ्तार छह लोगों को 19 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

तत्काल सुधार की जरूरत  
पीएनबी में हाल में सामने आए हजारों करोड़ रुपये के घोटाले के मद्देनजर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में तत्काल सुधार की जरूरत है। वैश्विक रेटिंग एजेंसी एसऐंडपी ने सोमवार को यह बात कही। एसऐंडपी ग्लोबल रेटिंग्स की विश्लेषक दीपाली सेठ छाबडिय़ा ने कहा, हमारा अनुमान है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में और नुकसान हो सकता है। हालांकि, पूर्व की सभी दबाव वाली संपत्तियों की अब पहचान हो चुकी है। बैंकिंग क्षेत्र में यह घोटाला ऐसे समय सामने आया है जबकि यह पहले ही गैर निष्पादित आस्तियों की समस्या से जूझ रहा है। एसऐंडपी ने कहा कि कड़े नियामकीय मानदंडों तथा साथ में उदारता से पूंजी डालने से बैंकों का बही खाता मजबूत होगा।
कीवर्ड सीबीआई, पीएनबी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक