एसएफआईओ के सामने पेश हुए पीएनबी प्रमुख

एजेंसियां | मुंबई Mar 07, 2018 10:58 PM IST

गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) ने पीएनबी घोटाला मामले में आज बैंक के प्रबंध निदेशक व सीईओ सुनील मेहता से पांच घंटे तक पूछताछ की। मेहता एसएफआईओ कार्यालय सुबह 11 बजे पहुंचे थे और वहां से करीब 4 बजे बाहर निकले। समझा जाता है कि इससे पहले उनका बयान रिकॉर्ड किया गया।

 

घोटाला मामले में पिछले दो दिनों में एसएफआईओ ने तीन अदालत ने ईडी से मांगा जवाब लेनदारों से पूछताछ की है, जिनमें से एक पीएनबी है। ऐक्सिस बैंक व आईसीआईसीआई बैंक के अधिकारियों से यहां मंगलवार को पूछताछ हुई थी।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने नीरव मोदी की फर्म फायरस्टार डायमंड की याचिका पर आज प्रवर्तन निदेशालय से जवाब मांगा। प्रवर्तन निदेशालय इसके खिलाफ धनशोधन मामले की जांच कर रहा है। अदालत के पीठ ने ईडी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। पीठ ने ईडी से कहा है कि वह पूरी कार्यवाही के बारे में सिलसिलेवार जानकारी देंगे। मामले पर अब 19 मार्च को सुनवाई होगी।

उधर, घोटाला के आरोपी हीरा सिंभावली शुगर्स का  एनपीए खाते बेचेगा एसबीआई कारोबारी नीरव मोदी अब अरबपति क्लब का हिस्सा नहीं है। मोदी को 1.8 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ फोब्र्स की 2017 की अरबपतियों सूची में जगह मिली थी, हालांकि इस साल की सूची में उन्हें जगह नहीं मिली।

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 988 करोड़ रुपये से अधिक के 15 एनपीए खातों को बिक्री की पेशकश है। इसमें उत्तर प्रदेश स्थित सिंभावली शुगर्स का नाम शामिल है। इस चीनी मिल पर बैंक का 158.57 करोड़ रुपये बकाया है। स्टेट बैंक की बोली आमंत्रित करने के लिए जारी दस्तावेज में कहा गया है, स्टेट बैंक 988.95 करोड़ रुपये की मूल बकाया राशि के साथ 15 गैर-निष्पादित संपत्तियों की प्रस्तावित बिक्री के लिए बैंकों, संपत्ति पुनर्गठन कंपनियों, गैर-बैंकिंग कंपनियों, वित्तीय संस्थानों से इन संपत्तियों में उनकी रु चि के लिए बोली आमंत्रित करता है। सिंभावली शुगर्स के अलावा इस सूची में जिन कंपनियों के नाम शामिल हैं उनमें अक्ष गोल्ड ऑर्नामेंट्स, केबीजे ज्वेल्स इंडस्ट्री इंडिया और केबीजे होटल वाराणसी है, जिन पर कुल मिलाकर 164.30 करोड़ रुपये बकाया है। 

 

इनमें श्री जालाराम राइस इंडस्ट्रीज का कर्ज खाता एनपीए में बदल गया, जिसमें 127.05 करोड़ रुपये की मूल राशि शामिल है। इसके साथ ही एमसीएल ग्लोबल स्टील के ऊपर 100.18 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है। बोली मंगाने के लिए जारी दस्तावेज में यह भी दिखाया गया है कि गुजरात की कुछ कंपनियों ने 5.90 से लेकर 63.39 करोड़ रुपये का कर्ज लिया, जो कि अब एनपीए खाते में परिवर्तित हो चुके हैं।
कीवर्ड एसएफआईओ, पीएनबी, प्रबंध निदेशक, सीईओ, सुनील मेहता,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक