पंजाब नैशनल बैंक की संकटग्रस्त मुंबई शाखा में एक और घोटाला

रॉयटर्स | मुंबई Mar 15, 2018 10:21 PM IST

पंजाब नैशनल बैंक ने मुंबई की उसी शाखा में संदिग्ध क्रेडिट गारंटी धोखाधड़ी के और मामले पाए हैं। यह मामला करीब 9.1 करोड़ रुपये के कथित गबन का है, जिससे कम मशहूर कंपनी चंद्री पेपर ऐंड एलायड प्रॉडक्ट्स के अधिकारी जुड़े हुए हैं। पीएनबी की तरफ से सीबीआई के पास दर्ज शिकायत में यह जानकारी दी गई है। 

 

नए मामले से संदेह पैदा हो रहा है कि वहां ऐसे और मामले हो सकते हैं। देश के केंद्रीय बैंक ने इस हफ्ते तत्काल प्रभाव से बैंकों की तरफ से जारी किए जाने वाले लेटर ऑफ अंडरटेकिंग, क्रेडिट गारंटी वाले पत्र आदि जारी करने पर पाबंदी लगा दी है। दो ज्वैलरी ग्रुप की तरफ से बैंक के कर्मचारियों के साथ मिलीभगत के जरिए धोखाधड़ी के बाद यह मामले देखने को मिला है।

इस मामले में पीएनबी ने सीबीआई के अधिकारियों को कहा कि इसकी मुंबई शाखा (ब्रैडी हाउस) ने अप्रैल 2017 में चंद्री पेपर के निदेशकों के साथ आपराधिक साजिश की और इन्हें रकम जुटाने के लिए फर्जी तरीके से दो लेटर ऑफ अंडरटेकिंग जारी कर दिए। शिकायत के मुताबिक, दोनों मामलों में एक ही तरह के बैंक अधिकारी शामिल हैं। पीएनबी के प्रवक्ता ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की। चंद्री पेपर से इस इस बारे में टिप्पणी नहीं मिल पाई। धोखाधड़ी के बाद से बैंक का शेयर करीब 40 फीसदी टूट चुका है।

कोठारी को जमानत से इनकार
सीबीआई की एक अदालत ने रोटोमैक ग्लोबल के प्रवर्तक, निदेशक विक्रम कोठारी और उनके बेटे राहुल कोठारी की जमानत याचिका खारिज कर दी। यह मामला 3,695 करोड़ रुपये के कर्ज भुगतान के कथित डिफॉल्ट का है। 7 मार्च को अदालत ने विक्रम की अंतरिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

सीबीआई ने दोनों को 23 फरवरी को दिल्ली में गिरफ्तार किया था और तब से ये दोनों जेल में हैं। गिरफ्तारी के बाद अभियुक्तों को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया गया। सीबीआई अदालत ने प्रीमियर एजेंसी के आवेदन पर 24 फरवरी को पुलिस रिमांड की अनुमति दी थी ताकि पूछताछ की जा सके। सीबीआई की रिमांड अवधि 7 मार्च को समाप्त हो गई, जिसके बाद न्यायाधीश एम पी चौधरी ने उन्हें न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेज दिया था।
कीवर्ड पंजाब नैशनल बैंक, मुंबई, क्रेडिट गारंटी, एलायड प्रॉडक्ट्स,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक