पीएनबी करता रहा है फर्जी एलओयू के दावे का भुगतान

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Mar 21, 2018 09:35 PM IST

एक ओर जहां विभिन्न बैंक 129 अरब रुपये के घोटाले से जुड़ी देनदारी के भुगतान पर विवाद में उलझे हुए हैं वहीं पंजाब नैशनल बैंक 2011 से 2016 के बीच जारी फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के लिए अन्य बैंकों के सभी दावे का भुगतान करता रहा है। पीएनबी ने वित्त मंत्रालय को भेजी सूचना में कहा है, साल 2016 तक जारी किसी एलओयू का भुगतान बकाया नहीं है। पीएनबी ने नीरव मोदी की कंपनियों को 2011 से 2016 के बीच 174 अरब रुपये के 1,063 एलओयू जारी किए थे। बैंंक ने मेहुल चोकसी की कंपनियों को 2015 व 2016 में 18.8 अरब रुपये के 234 एलओयू जारी किए थे।
 
साल 2017 में पीएनबी ने मोदी व चोकसी की फर्मों को करीब 130 अरब रुपये के क्रमश: 150 व 143 एलओयू जारी किए। भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं को अभी भुगतान होना बाकी है, जिसे 2017 से अब तक एलओयू जारी हुए हैं। इन बैंकों में भारतीय स्टेट बैंक, इलाहाबाद बैंक, केनरा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया आदि शामिल हैं। एक वरिष्ठ बैंकर ने कहा, पीएनबी ने 2011 से 2016 के बीच जारी सभी एलओयू के दावे का भुगतान करता रहा है, जिसे अभी घोटाले का नाम दिया जा रहा है। इसे साल 2017 में जारी एलओयू से जुड़े दावे का भी भुगतान करना चाहिए।
कीवर्ड bank, loan, debt, PNB,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक