यूको बैंक की हॉन्ग-कॉन्ग शाखाओं का होगा विलय

नम्रता आचार्य | कोलकाता Mar 23, 2018 09:27 PM IST

लेटर ऑफ अंडरटेकिंग जारी करने पर आरबीआई की पाबंदी के बाद कोलकाता का यूको बैंंक हॉन्ग-कॉन्ग की दो शाखाओं के विलय की योजना बना रहा है। भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं के मामले में हॉन्ग-कॉन्ग का स्थान ब्रिटेन के बाद दूसरे स्थान पर है। यूको बैंक के प्रबंध निदेशक व सीईओ आर के टक्कर ने बिजनेस स्टैंडर्ड से कहा, एलओयू पर पाबंदी से विदेशी शाखाओं के कारोबार पर असर पड़ा है और हमें लग रहा है कि हॉन्ग-कॉन्ग में एक शाखा वहां की जरूरतें पूरी करने के लिए पर्याप्त है।

 
हॉन्ग-कॉन्ग में ज्यादातर भारतीय बैंकों की शाखाएं मुख्य रूप से एलओयू व बायर्स क्रेडिट के जरिए रकम देती रही हैं, जो उनके कारोबार का करीब 50 फीसदी है। लेकिन अब वे अपने परिचालन को दुरुस्त करने के लिए बाध्य हुए हैं। हॉन्ग-कॉन्ग में भारतीय बैंकों की करीब 17 शाखाएं हैं। जिन बैंकों की दो शाखाएं हैं उनमें बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नैशनल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, आईसीआईसीआई बैंक व यूको बैंंक शामिल हैं। हॉन्ग-कॉन्ग में शाखा खोलने में पूंजी की शून्य दरकार होती है, जिसकी वजह से भारतीय बैंक वहां लंबे समय से शाखा खोलने के मामले में उत्साहित रहे हैं।
 
इस महीने वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने ट्वीट में कहा था कि सरकारी बैंक 35 विदेशी परिचालन को एकीकृत करेंगे और वह भी इन देशों में सरकारी बैंकों की अंतरराष्ट्रीय मौजूदगी को प्रभावित किए बिना। उन्होंने कहा, इसके अलावा आने वाले समय में ऐसे 69 परिचालनों की जांच होनी है। इसमें बैंक की शाखाएं, संयुक्त उद्यम, सहायक, रकम प्रेषण केंद्र व प्रतिनिधि कार्यालय शामिल हैं। प्रस्तावों में बैंक की शाखाओं का एकीककरण भी शामिल है। ब्रिटेन में भारतीय बैंकों की सबसे ज्यादा शाखाएं (32) हैं, जिसके बाद 17 शाखाओंं के साथ हॉन्ग-कॉन्ग दूसरे स्थान पर है जबकि सिंगापुर 11 शाखाओं के साथ तीसरे नंबर पर है।  इलाहाबाद बैंंक के एक अधिकारी ने कहा, बैंकों के विदेशी कारोबार में एलओयू की हिस्सेदारी 50 फीसदी है, लेकिन आय में इसकी हिस्सेदारी महज 25 फीसदी है क्योंकि मार्जिन कम है। अब निश्चित तौर पर विदेशी परिचालन में कारोबार घटेगा, लेकिन लाभ में इजाफा भी होगा।
 
120 शेल कंपनियों का विश्लेषण
 
पीएनबी मामले में प्रवर्तन निदेशालय 120 शेल कंपनियों का विश्लेषण कर रहा है। नीरव मोदी ने कथित तौर पर एलओयू के जरिए पीएनबी के साथ 2 अरब डॉलर से ज्यादा की घोखाधड़ी की है। वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने लोकसभा में लिखित जवाब में कहा, प्रवर्तन निदेशालय से मिले इनपुट के मुताबिक, पीएनबी घोटाला मामले में भारत की 120 शेल कंपनियों का विश्लेषण किया गया।
कीवर्ड uco bank, hongkong,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक