बीओआई को सलाहकारों की तलाश

अभिजीत लेले | मुंबई Mar 25, 2018 09:55 PM IST

प्रॉम्प्ट करेटिक्व एक्शन (पीसीए) से गुजर रहा सरकार के स्वामित्व वाला ऋणदाता बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) नेतृत्व प्रतिभा की पहचान एवं विकास के लिए मानव संसाधन (एचआर) कंसल्टेंसी संस्था के साथ भागीदारी पर विचार कर रहा है। बैंक को सलाहकार संस्था के जुडऩे से शीर्ष प्रबंधन स्तर पर उत्तराधिकार नियोजन में भी मदद मिलेगी। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और आईडीबीआई बैंक एचआर पहल के लिए सलाहकार के तौर पर पहले ही नियुक्त किए जा चुके हैं। बीओआई इंटिग्रेटेड ह्यïूमन रिसोर्स फ्रेमवर्क के निर्माण एवं क्रियान्वयन के लिए कंसल्टेंट की नियुक्ति पर विचार कर रहा है।
 
कंसल्टेंसी संस्था एक संपूर्ण फीडबैक व्यवस्था की पेशकश के लिए संभावना तलाशेगी। बीओआई के अधिकारियों का कहना है कि यह खासकर बैंक के विकास के लिए एक्जीक्यूटिव कैडर के लिए है।  बैंकिंग उद्योग 'रिटायरमेंट डिकेड' (2010-2020) से गुजर रहा है। इससे रिस्क मैनेजमेंट, सूचना प्रौद्योगिकी, फॉरेन एक्सचेंज (फॉरेक्स), क्रेडिट अप्रेजल/मॉनीटरिंग, एचआर, मार्केटिंग आदि जैसे क्षेत्रों में सक्षम कर्मियों की किल्लत को बढ़ावा मिला है।  इसके अलावा जरूरी कौशल जरूरत बनाम उपलब्धता के बीच स्पष्टï अंतर भी दिखा है। इससे आईटी, फॉरेक्स, ट्रेजरी आदि जैसे क्षेत्रों में जरूरी साख और क्षमताओं में सुधार जरूरी है। 
कीवर्ड bank, loan, debt, BOI,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक