आईसीआईसीआई बैंक: चुनौतियों के बावजूद विश्लेषक उत्साहित

पुनीत वाधवा | नई दिल्ली Apr 03, 2018 09:31 PM IST

आईसीआईसीआई बैंक में हाल में सामने आए घटनाक्रम से निवेश धारणा प्रभावित हुई है और कई विश्लेषक अल्पावधि के नजरिये से इस शेयर को लेकर सतर्कता बरत रहे हैं। उनका मानना है कि इसके अलावा, जांच एजेंसियों द्वारा सक्रियता दिखाने से बैंक में ऋण वितरण प्रक्रिया भी जांच के दायरे में आ सकती है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए उनका मानना है कि इस शेयर पर अल्पावधि के संदर्भ में दबाव बना रहेगा। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा बैंक की मुख्य कार्याधिकारी चंदा कोछड़ और वीडियोकॉन समूह के बीच कथित संबंधों की आरंभिक जांच शुरू होने की वजह से यह शेयर सोमवार को लगभग 6 प्रतिशत गिरकर 262 रुपये के स्तर पर आ गया था। हालांकि मंगलवार को इसमें तेजी दिखी और आखिर में यह एनएसई पर 3.81 प्रतिशत की बढ़त के साथ 270.20 रुपये पर बंद हुआ। 
 
अल्पावधि चिंताओं के बावजूद विश्लेषक बैंक के आगामी परिदृश्य को लेकर सकारात्मक बने हुए हैं, क्योंकि इसके कई व्यवसाय अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि मजबूत पूंजीगत स्थिति (सीआरएआर 17.7 प्रतिशत पर) मजबूत एनआईएम (लगभग 3.3 प्रतिशत) कुछ प्रमुख सकारात्मक बदलाव हैं।  इक्विनोमिक्स रिसर्च के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक जी चोकालिंगम कहते हैं, 'हालिया खबरों से धारणा निश्चित तौर पर प्रभावित हुई है। यह आशंका भी जताई जा रही है कि बैंक मौजूदा सीईओ को बदलेगा। यदि ऐसा होता है तो यह शेयर और गिर सकता है। हालांकि निवेशकों को घबराहट में बिकवाली नहीं करनी चाहिए। बुनियादी आधार के नजरिये से बैंक मजबूत बना हुआ है क्योंकि उसके बैंकिंग, आवास ऋण, प्रतिभूति और एएमसी (परिसंपत्ति प्रबंधन) तथा अन्य व्यवसाय अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।'
 
एसीई इक्विटी के आंकड़ों के अनुसार कैलेंडर वर्ष 2018 में अब तक आईसीआईसीआई बैंक ने बीएसई के सेंसेक्स और बीएसई बैंकेक्स की तुलना में कमजोर प्रदर्शन किया है। जहां इन दोनों प्रमुख सूचकांकों में 2.3 फीसदी और 6 फीसदी की गिरावट आई है वहीं इस शेयर में लगभग 17 प्रतिशत की कमजोरी आ चुकी है।  भविष्य में बैंक को बैंकिंग क्षेत्र में अच्छे अवसर मिलने की उम्मीद है क्योंकि पीएसयू बैंकों को अपनी आंतरिक व्यवसायिक चुनौतियों की वजह से संघर्ष का सामना करना पड़ रहा है। 
कीवर्ड ICICI, bank, CBI,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक