सीबीआई ने की राजीव कोछड़ से पूछताछ

श्रीमी चौधरी | मुंबई Apr 05, 2018 10:42 PM IST

बढ़ रही चंदा कोछड़ की मुश्किलें

चंदा कोछड़ के देवर हैं राजीव
आईसीआईसीआई बैंक-वीडियोकॉन मामले में की जा रही है पूछताछ
मुंबई हवाई अड्डे पर आव्रजन अधिकारियों ने राजीव को हिरासत में लिया

आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्याधिकारी चंदा कोछड़ की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। वीडियोकॉन समूह को 32.50 अरब रुपये के ऋण आवंटित करने के मामले में सीबीआई उनके देवर राजीव कोछड़ से पूछताछ कर रही है। सूत्रों के अनुसार, मुंबई हवाई अड्डे पर आव्रजन अधिकारियों ने आज राजीव कोछड़ को हिरासत में ले लिया। राजीव सिंगापुर की उड़ान पकडऩे हवाई अड्डे पर पहुंचे थे। इसके बाद उन्हें सीबीआई को सौंप दिया गया। सीबीआई की मुंबई टीम दोपहर से ही उनसे पूछताछ कर रही है। 

सीबीआई से जुड़े सूत्रों ने कहा कि राजीव कोछड़ अस्तित्व एडवाइजरी के संस्थापक हैं। उन पर कथित तौर पर सात कंपनियों के विदेशी मुद्रा परिवर्तनीय बॉन्ड (एफसीसीबी) के पुनर्गठन में बैंक की मदद करने का आरोप है। इस सौदे का मूल्य करीब 1.7 अरब डॉलर है। इनमें वीडियोकॉन और कुछ अन्य ब्ल्यूचिप फर्मों द्वारा भारत में आईसीआईसीआई बैंक द्वारा लिए गए कर्ज का मामला भी शामिल है।

जांच एजेंसी अस्तित्व पर लगे आरोपों की जांच कर रही है, जिससे प्रतीत होता है कि वह लोन सिंडिकेट के तौर पर काम कर रही थी और प्रत्येक सौदे में उसे कमीशन मिलता था। सूत्रों ने कहा कि जांच एजेंसी ऋणदाताओं की समिति की भूमिका की भी जांच कर रही है जिसने इन कंपनियों को ऋण आंवटित करने की मंजूरी दी थी। हालांकि कोछड़ ने मीडिया को दिए साक्षात्कार में सभी आरोपों से इनकार करते हुए कहा था उनका या उनकी फर्म का आईसीआईसीआई बैंक के साथ कोई कारोबारी संबंध नहीं है।

खबरों के अनुसार अविस्ता वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के साथ दो सौदों में शामिल रही थी, जिसकी वजह से वह विवादों में आए। इन लेनदेन में वीडियोकॉन के 2015 में 19.4 करोड़ डॉलर के एफसीसीबी के पुनर्वित्तपोषण और फिर 2016 में 9.7 करोड़ डॉलर के एफसीसीबी के पुनर्वित्तपोषण का प्रबंध करना शामिल है।

जांच एजेंसी ने कहा कि वह इन कंपनियों के दिए गए कर्ज के संबंधित दस्तावेजों की जांच कर रही है ताकि यह पता लगाया जा सके कि इसमें चंदा कोछड़, उनके पति दीपक कोछड़, राजीव कोछड़ और वेणुगोपाल धूत के बीच कोई सांठगांठ तो नहीं थी। सीबीआई सूत्रों ने संकेत दिया कि जांच एजेंसी आईसीआईसीआई बैंक के कुछ अन्य अधिकारियों और कोछड़ परिवार के सदस्यों को भी पूछाताछ के लिए बुला सकती है। यह जांच दीपक कोछड़, वीडियोकॉन समूह के अधिकारियों और अन्य खिलाफ एक महीने पहले सीबीआई द्वारा दर्ज प्रारंभिक जांच का हिस्सा है।

सूत्रों ने कहा कि प्रारंभिक जांच उस समय शुरू की गई जब इसका आरोप लगा कि धूत ने आईसीआईसीआई बैंक से 2012 में 32.50 अरब रुपये का कर्ज वीडियोकॉन समूह को मिलने के बाद दीपक कोछड़ की एक कंपनी और उनके दो संबंधियों को पैसे दिए। 32.50 अरब रुपये का कर्ज वीडियोकॉन समूह को 20 बैंकों के कंसोर्टियम द्वारा दिए गए 400 अरब रुपये के कर्ज का हिस्सा है।

हालांकि करीब 15 दिन पहले आईसीआईसीआई बैंक के निदेशक मंडल ने चंदा कोछड़ का बचाव करते हुए पक्षपात करने के आरोपों से इनकार किया और कोछड़ पर पूरा भरोसा जताया। बोर्ड ने इस तरह की खबरों को बेबुनियाद बताया था। बैंक ने यह भी कहा था कि न्यूपावर रिन्यूएबल का कोई भी निवेशक आईसीआईसीआई बैंक का कर्जदार नहीं है।

कीवर्ड चंदा कोछड़, आईसीआईसीआई बैंक, वीडियोकॉन, हवाई अड्डा, सीबीआई, राजीव कोछड़, CBI, FCCB, ICICI Bank, Chanda Kochhar, Videocon,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक