पीएनबी को रिजर्व बैंक से राहत

सोमेश झा | नई दिल्ली Apr 06, 2018 09:51 PM IST

भारतीय रिजर्व बैंक ने पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को नीरव मोदी-मेहुल चोकसी धोखाधड़ी से हुए 13,900 करोड़ रुपये घाटे को 4 तिमाही में बांटने की अनुमति दे दी है, जिसके लिए बैंक को अपने भंडार की रकम का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा। पीएनबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न दिए जाने की शर्त पर बताया, 'रिजर्व बैंक ने मार्च में समाप्त तिमाही में हमारे भंडार से बगैर धन निकाले हमें घाटे को बांटने की अनुमति दे दी है।' अधिकारी ने कहा कि पीएनबी के पास इस समय 35,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का भंडार है। 
 
पीएनबी को नीरव मोदी और चोकसी क ी कंपनियों के समूह से इस साल की शुरुआत में लेटर आफ अंडरटेकिंग और लेटर आफ क्रेडिट सुविधा के माध्यम से 13,900 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना मिली थी। माना जा रहा था कि रिजर्व बैंक के दिशानिर्देर्शों के मुताबिक बैंक को 2017-18 की चौथी तिमाही में धोखाधड़ी के कारण हुए घाटे के लिए पूरा प्रावधान करना होगा। 2017-18 में धोखाधड़ी के कारण पीएनबी को 14,500 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। परिणामस्वरूप दिल्ली के इस बैंक ने रिजर्व बैंक से अनुरोध किया था कि बैंक को अपने घाटे को बैंक के भंडार से राशि निकाले बगैर 4 तिमाही में बांटने की अनुमति दी जाए। 
 
शुक्रवार को बिजनेस स्टैंडर्ड से बातचीत में पंजाब नैशनल बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील मेहता ने कहा, 'रिजर्व बैंंक ने हमें कुछ क्षमा दी है, जिसकी वजह से हम अपने नुकसान को 4 तिमाहियों में बांट सकते हैं। इससे हमारी पूंजी की जरूरतों पर असर नहीं पड़ेगा।' रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के मुताबिक जब बैंक धोखाधड़ी से हुए नुकसान को 4 तिमाहियों में बांटता है और एक से ज्यादा वित्तीय वर्ष में पूरा प्रावधान करता है तो बैंक को अपने भंडार में से कटौती करनी पड़ती है। रिजर्व बैंक के मुताबिक, 'वित्त वर्ष के आखिर में न मुहैया कराए गए धन की प्रावधानों के मुताबिक कटौती होगी।'  रिजर्व बैंक के 'धोखाधड़ी वाले खातों से संबंधित प्रावधान' से जुड़े दिशानिर्देशों के मुताबिक 'तिमाही लाभ और हानि के प्रावधान को हल्का करने के लिए बैंकोंं के पास विकल्प होता है कि वे एक अवधि के लिए इसका प्रावधान कर सकते हैं, जो 4 तिमाही से ज्यादा नहीं होगा। इसकी गणना उस समय से होगी, जब धोखाधड़ी सामने आया।' 
कीवर्ड nirav modi, bank, loan, debt, PNB, fraud,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक