कुछ विदेशी शाखाएं बंद करेगा केनरा बैंक

अभिजित लेले | मुंबई Apr 08, 2018 09:29 PM IST

लेस्टर (ब्रिटेन), बहरीन और शांघाई की शाखाएं होंगी बंद

केनरा बैंक तीन विदेशी शाखाओं लेस्टर (ब्रिटेन), बहरीन और शांघाई को बंद करेगा और एसबीआई के साथ संयुक्त उद्यम की 50 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगा। यह कदम विदेशी शाखाओं के नेटवर्क को उपयुक्त बनाने के तहत उठाया गया है। बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्याधिकारी राकेश शर्मा ने बिजनेस स्टैंडर्ड से कहा कि निदेशक मंडल ने विदेशी शाखाओं के नेटवर्क को उपयुक्त बनाने की योजना को मंजूरी दे दी है। विदेश में बैंक की आठ शाखाएं हैं - लंदन, लेस्टर, हॉन्ग-कॉन्ग, शांघाई, मनामा, जोहानिसबर्ग, न्यू यॉर्क और डीआईएफसी (दुबई) में एक-एक शाखा है। इसके अलावा शारजाह यूएई में प्रतिनिधि कार्यालय है।

बेंगलूरु के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंंक की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक केनरा बैंंक (तंजानिया) लिमिटेड तंजानिया के दार-ए-सलाम में है जबकि एसबीआई के साथ संयुक्त उद्यम में कमर्शियल इंडो बैंक एलएलसी मॉस्को में है। तंजानिया की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक मई 2016 में खोली गई है।

शर्मा ने कहा कि बैंक उन शाखाओं के ग्राहकों की सेवाएं जारी रखना सुनिश्चित करेगी, जो बंद की जा रही है। लिसेस्टर शाखाओं का काम लंदन की शाखा को हस्तांतरित किया जाएगा, जबकि हॉन्ग-कॉन्ग शाखा का काम शांघाई में चला जाएगा। मनामा (बहरीन) का काम दुबई की शाखा को हस्तांतरित किया जाएगा।

2016-17 की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक का विदेशी कारोबार 10 अरब डॉलर के पार निकल गया, जो मार्च 2017 में बैंक के कुल कारोबार का करीब 8 फीसदी बैठता है। कुल विदेशी कारोबार 684.08 अरब रुपये का है, जिसमें 406.66 अरब रुपये की जमाएं और 277.42 अरब रुपये की उधारी शामिल है। पंजाब नैशनल बैंक में लेटर ऑफ अंडरटेकिंग से जुड़ी धोखाधड़ी की पृष्ठभूमि में सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को अपने विदेशी परिचालन को एकीकृत करने का निर्देश दिया है। इस पप्रगति का मतलब यह है कि विदेश में कई बैंकों की शाखाएं व कार्यालय बंद होंगे या उन्हें दूसरी शाखाओं के साथ मिला दिया जाएगा। बैंक अपनी शाखाओं के परिचालन, बहाली आदि पर फैसला वाणिज्यिक कामकाज के हिसाब से लेता है।
कीवर्ड canara bank, branch,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक