इंडसइंड बैंक का लाभ 26 प्रतिशत बढ़ा

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली Apr 19, 2018 09:46 PM IST

निजी क्षेत्र के इंडसइंड बैंक का शुद्ध लाभ मार्च, 2018 में समाप्त चौथी तिमाही में 26 प्रतिशत बढ़कर 953 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बैंक को खासकर ब्याज से मजबूत आय हासिल होने से मदद मिली। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक ने 750 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने कहा है कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 5,858.62 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 5,041.31 करोड़ रुपये थी। समीक्षाधीन अवधि में बैंक की ब्याज आय 21.4 प्रतिशत बढ़कर 4,650.11 करोड़ रुपये रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 3,830.01 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान बैंक की निवेश आय 830.51 करोड़ रुपये रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 644.05 करोड़ रुपये थी। 
 
मार्च तिमाही में सकल एनपीए कुल अग्रिमों के प्रतिशत के तौर पर 1.17 फीसदी दर्ज किय ागया जो दिसंबर तिमाही में 1.16 फीसदी था। एक साल पहले की समान तिमाही में सकल एनपीए अनुपात 0.93 प्रतिशत पर था। इंडसइंड बैंक ने कहा है कि बैंक के बोर्ड ने 31 मार्च 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए 7.50 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के लाभांश का सुझाव दिया है।  रत्न आभूषण उद्योग में ताजा धोखाधड़ी के बावजूद इंडसइंड बैंक को हीरा फाइनैंसिंग व्यवसाय में भरोसा बना हुआ है और उसने इसे मजबूत प्रतिफल वाला व्यवसाय करार दिया है। 
 
एचडीएफसी लाइफ का शुद्ध लाभ बढ़ा
 
एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (एचडीएफसी लाइफ) का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2018 में 24 फीसदी बढ़कर 11.1 अरब रुपये हो गया जो वित्त वर्ष 2017 में 8.9 अरब रुपये रहा था। 31 मार्च 2018 को समाप्त चौथी तिमाही के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले 40.4 फीसदी बढ़कर 3.5 अरब रुपये हो गया। नवंबर 2017 के बाद कंपनी ने पहली बार पूरी तिमाही का नतीजा जारी किया है। वित्त वर्ष 2018 के दौरान कुल प्रीमियम में 21 फीसदी की वृद्धि हुई जबकि 235.6 अरब रुपये का प्रीमियम राजस्व जुटाया गया। कंपनी की प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियों का आकार फिलहाल 1,066 अरब रुपये है।
कीवर्ड bank, loan, debt, IndusInd Bank,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक