बैंक निफ्टी सूचकांक में कारोबार में आई है तेजी

पवन बुरुगुला | मुंबई Apr 20, 2018 10:41 PM IST

कारोबारियों को बैंकिंग सेक्टर में खबरों के अंधाधुंध प्रवाह का सामना करना पड़ रहा है। नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के आंकड़ों के अनुसार बैंक निफ्टी सूचकांक के लिए दैनिक औसत कारोबार मार्च में पूर्ववर्ती महीने की तुलना में 27 प्रतिशत और जनवरी के मुकाबले 41 प्रतिशत बढ़ा। मार्च में वायदा एवं विकल्प (एफऐंडओ) सेगमेंट में बैंक निफ्टी सूचकांक का औसत दैनिक कारोबार (एडीटी) 5.3 लाख करोड़ रुपये पर दर्ज किया गया। तुलनात्मक रूप से बैंकिंग शेयरों के प्रदर्शन का अंतर बताने वाले इस सूचकांक के लिए एडीटी फरवरी में 4.2 लाख करोड़ रुपये और उससे पूर्व के महीने में 3.7 लाख करोड़ रुपये पर दर्ज किया गया था। 

बाजार कारोबारियों और निवेशकों ने मीडिया में आ रहीं नकारात्मक खबरों के बीच फरवरी से ही इस सूचकांक में अपनी शॉर्ट पोजीशन बढ़ाई हैं। सरकार के स्वामित्व वाले पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) में 11,300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी सामने आने के बाद ट्रेडिंग गतिविधि बढ़ी है। आईसीआईसीआई बैंक और ऐक्सिस बैंक से जुड़े और आरबीआई द्वारा एनपीए के संबंध में मानकों को सख्त बनाए जाने से जुड़ी खबरों के प्रवाह के बीच कारोबार में तेजी बरकरार है। 

बैंक निफ्टी दो महीनों में लगभग 10 प्रतिशत गिरा है। इक्विनोमिक्स रिसर्च ऐंड एडवायजरी के संस्थापक जी चोकालिंगम कहते हैं, 'जब भी किसी कंपनी या सेक्टर से जुड़ी खबरों में तेजी आती है, डेरिवेटिव बाजार में सट्टबाजी बढ़ जाती है। इस मामले में, बैंकिंग सेक्टर को कुल एनपीए आंकड़ों, पीएनबी धोखाधड़ी और आईसीआईसीआई मामले के संदर्भ में कई झटके लगे हैं।'  एफऐंडओ दांव का बड़ा हिस्सा इस क्षेत्र के लिए बड़े जोखिम को देखते हुए हेजिंग से संबंधित था।

बैंक निफ्टी का वायदा एवं विकल्प कारोबार में 65 प्रतिशत का योगदान है, जो प्रमुख सूचकांक निफ्टी (34 प्रतिशत योगदान से भी ज्यादा है। पिछले साल बड़ी तेजी के बाद, बैंकिंग शेयरों पर नकारात्मक खबरों की वजह से भारी दबाव देखा गया है। सार्वजनिक क्षेत्र के देश के दूसरे सबसे बड़े बैंक पीएनबी ने 14 फरवरी को शेयर बाजारों को जानकारी दी थी कि उसके सिस्टम में 11,400 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी पाई गई है। एजेंसियों को भेजी शिकायत में बैंक ने आरोप लगाया था कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने पीएनबी के कर्मचारियों की मदद से कथित तौर पर बैंक के साथ धोखाधड़ी की। इसके बाद, बैंक ने धोखाधड़ी की रकम को संशोधित कर 13,000 करोड़ रुपये कर दिया। 

इन खबरों ने निवेशकों में यह भय पैदा कर दिया कि अन्य पीएसबी भी धोखाधड़ी से जुड़े हो सकते हैं। पीएनबी का शेयर फरवरी से अब तक 40 प्रतिशत गिर चुका है।  बैंकिंग शेयरों को अन्य झटका आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन को दिए गए 32.5 अरब रुपये के ऋण में अनियमितता के रूप में सामने आया। जांच एजेंसियां फिलहाल इस मामले की जांच कर रही हैं। 
कीवर्ड बैंकिंग, सेक्टर, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज, एनएसई,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक