नीरव के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय का आरोप पत्र

भाषा | मुंबई May 24, 2018 09:51 PM IST

प्रवर्तन निदेशालय ने 2 अरब डॉलर की पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में नीरव मोदी और उसके सहयोगियों के खिलाफ पहला आरोप पत्र दाखिल किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।  अधिकारियों के अनुसार धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) की विभिन्न धाराओं के तहत करीब 12,000 पृष्ठ का आरोप पत्र या अभियोजन शिकायत विशेष अदालत के समक्ष दायर किया गया। आपराधिक शिकायत केवल नीरव मोदी, उनके सहयोगियों तथा कंपनियों के खिलाफ दायर की गई। ऐसी संभावना है कि निदेशालय नीरव मोदी के मामा और जौहरी मेहुल चोकसी तथा उसकी कंपनियों के खिलाफ दूसरा आरोपपत्र दाखिल करेगा। आरोपपत्र में जांच एजेंसी द्वारा 14 फरवरी को दर्ज प्राथमिकी के बाद नीरव मोदी तथा उसके सहयोगियों के खिलाफ पिछले कुछ महीनों में की गई कुर्की का ब्योरा है। उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने इस महीने की शुरुआत में दो आरोपपत्र दाखिल किए थे। 
 
नीरव मोदी फरार है और मामले में अबतक ईडी की जांच में शामिल नहीं हुआ है। उसके तथा अन्य के खिलाफ विभिन्न आपराधिक कानूनों के तहत जांच चल रही है। इन सभी पर पीएनबी के कुछ अधिकारियों के साथ साठगांठ कर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के साथ 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है। ईडी का आरोप पत्र धन शोधन तथा धोखाधाड़ी में नीरव मोदी एवं अन्य की भूमिका पर केंद्रित है। 
कीवर्ड nirav modi, bank, loan, debt, PNB, fraud,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक