आईडीबीआई का घाटा 56.62 अरब रुपये हुआ

अभिजित लेले | मुंबई May 25, 2018 10:04 PM IST

सार्वजनिक क्षेत्र के आईडीबीआई बैंक का मार्च 2018 में समाप्त हुई चौथी तिमाही में शुद्घ घाटा बढ़कर 56.62 अरब रुपये पहुंच गया। फंसे कर्ज के मद में 107.8 अरब रुपये का भारी भरकम प्रावधान करने के कारण बैंक को यह नुकसान उठाना पड़ा है।  2016-17 की जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक को 31.99 अरब रुपये का शुद्घ घाटा हुआ था। अलबत्ता इस दौरान बैंक का परिचालन लाभ दोगुना से अधिक बढ़कर 23.61 अरब रुपये पहुंच गया जो वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में 10.44 अरब रुपये था।  इस दौरान बैंक का सकल एनपीए 21.25 फीसदी से बढ़कर 27.95 फीसदी तथा शुद्ध एनपीए 13.21 फीसदी से बढ़कर 16.69 फीसदी पर पहुंच गया।
 
कमजोर क्रेडिट प्रोफाइल के कारण त्वरित उपचारात्मक कार्रवाई सूची में शामिल मुंबई के इस बैंक को एनपीए के लिए प्रावधान बढ़ाकर 107.73 अरब रुपये करना पड़ा है। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में यह 60.54 अरब रुपये था। शुक्रवार को बीएसई में बैंक का शेयर 3 फीसदी की गिरावट के साथ 65 रुपये पर बंद हुआ। वित्त वर्ष 2018 में बैंक को कुल 82.37 अरब रुपये का शुद्घ घाटा हुआ था।
कीवर्ड bank, loan, debt, IDBI,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक