बैंकों और सिक्यूरिटी फर्मों में सूचना प्रौद्योगिकी खर्च 9.1 अरब डॉलर!

भाषा | नई दिल्‍ली Nov 13, 2017 05:23 PM IST

भारतीय बैंकिंग और सुरक्षा फर्मों में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र का खर्च इस साल 11.7 प्रतिशत बढ़कर 9.1 अरब डॉलर पर पहुंच जाने की उम्मीद है। यह जानकारी गार्टनर ने दी है। उसके मुताबिक डिजिटल भुगतान की ढांचागत सुविधाओं में निवेश बढ़ने से यह खर्च बढ़ेगा। शोध कंपनी ने एक रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय बैंकिंग क्षेत्र का नकदी रहित समाज बनने की तरफ रूपांतरण होने से इस क्षेत्र में प्रौद्योगिकी निवेश की व्यापक संभावनाएं पैदा हो रही हैं। डिजिटल भुगतान के लिए पूरा ढांचा खड़ा करने की दिशा में यह निवेश किया जाना है।

गार्टनर की प्रधान शोध विश्लेषक माउत्सी साउ ने कहा, पिछली दो तिमाहियों में सूचना प्रौद्योगिकी ढांचे में धीमे खर्च के बाद भारतीय बैंक वापस पटरी पर लौटने लगे हैं। पिछली दो तिमाहियों के दौरान नोटबंदी के प्रभाव के चलते आईटी व्यय में सुस्ती रही थी। उन्होंने कहा इसके साथ ही अब नई अवधारणा वाले क्षेत्रों जैसे कृत्रिम बुद्धिमता (एआई) और ब्लॉकचैन में निवेश प्रवाह बढ़ेगा क्योंकि बैंकों का ध्यान अब डिजिटल बदलाव की तरफ है। भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में विभिन्न उपकरणों में व्यय वर्ष 2017 में 20 प्रतिशत बढऩे का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है। इसके बाद आईटी सेवाओं में यह खर्च 15.8 प्रतिशत बढऩे का अनुमान है।

कीवर्ड बैंक, सिक्यूरिटी फर्म, सूचना प्रौद्योगिकी, बैंकिंग, शोध, रिपोर्ट, निवेश, गार्टनर, डिजिटल भुगतान,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक