होम » Commodities
«वापस

मिस्र से 2,400 टन प्याज का आयात

एजेंसियां |  Sep 01, 2017 10:10 PM IST

प्याज की कीमतों में तेजी से चिंतित सरकार ने शुक्रवार को कहा कि निजी कारोबारियों द्वारा 2,400 टन प्याज मिस्र से आयात किया गया है, ताकि घरेलू बाजार में आपूर्ति बढ़े। सरकार ने यह भी संकेत दिया कि अगर कीमतों में और बढ़ोतरी हुई तो और आयात की मंजूरी दी जाएगी। उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय प्याज की कीमतों पर कड़ी निगरानी रख रहा है। प्याज की कीमतें खुदरा बाजारों में 40 से 50 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई हैं। कारोबारियों के साथ समीक्षा बैठक के बाद मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'मिस्र से आयात किया जा रहा है। निजी कारोबारी पहले ही 2,400 टन का ऑर्डर दे चुके हैं। ये कंटेनर मुंबई बंदरगाह पर उतर रहे हैं।'

 
9,000 टन की एक अन्य खेप जल्द ही बंदरगाह पर पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि निजी कारोबारियों से कहा गया है कि अगर कीमतें और ऊपर जाती हैं तो वे पड़ोसी देशों से प्याज के और आयात के लिए तैयार रहें। आयात से संबंधित मसले के बारे में एक समीक्षा बैठक में चर्चा हुई, जिसकी अध्यक्षता उपभोक्ता मामलों के सचिव अविनाश के श्रीवास्तव ने की। इस बैठक में वाणिज्य एवं कृषि मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी और निजी कारोबारी मौजूद थे। 
 
अधिकारियों के मुताबिक आयातकों के समक्ष आ रही फ्यूमिगेशन जैसी अड़चनों को बैठक में दूर कर दिया गया है। उन्होंने कहा, 'प्याज के आयात के लिए सरकारी एजेंसियों को नियुक्त करने के बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।' अधिकारी ने यह भी कहा कि प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी केवल सटोरिया गतिविधियों से हो रही है क्योंकि फंडामेंटल कीमतों में इतनी बढ़ोतरी के पक्ष में नहीं हैं। खरीफ की नई फसल पिछले साल से बेहतर रहने का अनुमान है।
कीवर्ड agri, onion, import,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक