होम » Commodities
«वापस

जिंस गोदाम की ई-रसीद होगी शुरू

राजेश भयानी | मुंबई Sep 18, 2017 09:46 PM IST

गोदामों की नेगोशिएबल रिसीट के व्यापार का एक दशक पुराना विचार अगले हफ्ते हकीकत बन जाएगा। गोदामों के सामान के संचालन का लेखा-जोखा रखने वाली देश की दो एजेंसियां इसके लिए परिचालन शुरू कर रही हैं। वेयरहाउस डेवलेपमेंट ऐंड रेग्युलेटरी अथॉरिटी (डब्ल्यूडीआरए) ने दो भंडार गृहों को लाइसेंस जारी किया है जो विनियमित गोदामों में रखे गए सामान और उनके संचालन का हिसाब रखेंगे। इसमें गोदामों की रसीदें भी शामिल हैं जिनका उसी तरह से ट्रांसफर किया जाता है जैसा शेयरों का किया जाता है और डिपोजिटरी द्वारा उनका रिकॉर्ड रखा जाता है।
 
इन दो भंडार गृहों में से एक कृषि जिंसों पर केंद्रित एक्सचेंज नैशनल कमोडिटी ऐंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) द्वारा स्थापित है और दूसरा बीएसई द्वारा समर्थित डिपोजिटरी सीडीएसएल। ये दोनों अगले हफ्ते दिल्ली में शुरू किए जाने के साथ ही ऑनलाइन काम करने लगेंगे। हालांकि यह एक सॉफ्ट लॉन्चिंग होगी लेकिन एक बार प्रचलित हो जाने के बाद यह फसल कटाई के उपरांत कृषि उपज का बेहतरीन वित्त पोषण उपकरण होगा।
 
अब तक वस्तुओं का वित्त पोषण गोदामों की कागज पर आधारित रसीदों के आधार पर किया जाता रहा है, जो पूरी तरह से दोष मुक्त और धोखा-धड़ी से सुरक्षित नहीं होता। लेकिन ई-रसीदों को नेगोशिएबल उपकरण की तरह ट्रांसफर किया जा सकता है। इससे झंझटों से मुक्त और जिंसों के तेज व्यापार के प्रचुर अवसरों के द्वार खुलता है। इससे भी महत्त्वपूर्ण बात यह है कि कृषि जिंसों में आवागमन के दौरान हानि की संभावना गैर-कृषि जिंसों की तुलना में बहुत ज्यादा रहती है। इसके लिए भी इस ई-रसीद प्रणाली में बेहतर अवसर उपलब्ध रहता है।
 
हालांकि शुरू में यह कदम अच्छी शुरुआत तो रहेगा लेकिन इसका विस्तार करने में समय लगेगा क्योंकि गोदाम विनियामक विनियमित गोदामों की निगरानी और आचरण प्रणाली सुनिश्चित करेगा। डब्ल्यूडीआरए के मानदंडों के अनुसार स्टॉक की गुणवत्ता और डिलिवरी की जिम्मेदारी गोदाम के मालिक की होती है। हालांकि यदि और जब कभी इन वस्तुओं का सौदा किया जाता है और एक्सचेंज में डिलिवर किया जाता है, तो एक्सचेंज को निपटान की गारंटी लेनी पड़ती है तथा यदि कोई नुकसान होता है तो खरीदार को क्षतिपूर्ति करनी पड़ती है। हालांकि एक्सचेंज गोदाम से क्षतिपूर्ति का दावा कर सकता है। वर्तमान में एनसीडीईएक्स इलेक्ट्रॉनिक्स नेगोशिएबल वेयरहाउस रिसीट की सफलता के लिए डब्ल्यूडीआरए, बैंकों, किसानों, व्यापारियों और गोदामों के साथ मिलकर काम कर रह है। एनसीडीईएक्स के अपने प्लेटफॉर्म पर हर महीने तकरीबन एक लाख टन की डिलिवरी होती है।
कीवर्ड agri, jins,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक