होम » Commodities
«वापस

सोना है पसंद तो अब कर पाएंगे विकल्प अनुबंध, धनतेरस से शुरुआत

तिनेश भसीन | मुंबई Oct 16, 2017 10:05 PM IST

एमसीएक्स 17 अक्टूबर से कर रहा सोने में ऑप्शन की शुरुआत

निवेशक पहली बार सोने के लिए विकल्प अनुबंध (ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट) का इस्तेमाल कर पाएंगे। देश में पहली बार ऐसी कारोबारी व्यवस्था लागू होगी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) 17 अक्टूबर को धनतेरस के दिन 1 किलोग्राम सोने के साथ इसकी शुरुआत करेगा।  इस बारे में केडिया कमोडिटीज के निदेशक अजय केडिया ने कहा, 'जो लोग कमोडिटी एक्सचेंज पर पहले से ही सोना वायदा कारोबार कर रहे हैं, वे इस पहल को लेकर उत्साहित हैं। कारोबार करने के लिहाज से ऑप्शन फ्यूचर के मुकाबले सस्ता होता है।'

हालांकि जानकारों ने आगाह किया है कि सोने से जुड़े कारोबार पर विचार करने से पहले निवेशकों को शेयरों में वायदा एवं विकल्प (फ्यूचर ऐंड ऑप्शन) की अच्छी समझ होनी जरूरी है। रेलिगेयर सिक्योरिटीज के जयंत मांगलिक ने कहा कि जिसे वायदा एवं विकल्प कारोबार की गहराई पता नहीं है तो उसे डेरिवेटिव कारोबार में उतरने से पहले सौ बार सोचना चाहिए। ऑप्शन कारोबार में एक छोटे प्रीमियम का भुगतान कर कोई कारोबारी सोने में बड़ा निवेश कर सकता है।

ऑप्शन कारोबार कुछ इस तरह समझा जा सकता है। कोई कारोबारी मौजूदा कीमत पर एक महीने बाद सोना खरीदना चाहता है तो वह बिकवाल के साथ ऑप्शन से जुड़ा समझौता करता है। इससे कारोबारी को एक महीने बाद 1 किलो सोना 30 लाख रुपये में खरीदने का अधिकार मिलता है। ऑप्शन सौदा पूरा करने के लिए कारोबारी बिकवाल को 60,000 रुपये भुगतान करता है। 

एक महीने बाद दो स्थितियां बन सकती हैं। पहली स्थिति में सोने की कीमतें ऊपर जा सकती हैं। शर्त के तहत निवेशक पहले से तय मूल्य 30 लाख रुपये पर ऑप्शन का इस्तेमाल करेगा। 30 लाख रुपये से ऊपर उसका फायदा होगा। दूसरी स्थिति में कीमतें कम हो सकती हैं। ऐसी हालत में खरीदार ऑप्शन समाप्त होने दे सकता है। इस तरह, उसे 60,000 रुपये प्रीमियम का नुकसान होगा। अगर कोई निकट अवधि में सोना खरीदना चाहता है तो वह पेटीएम या मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज से कम मात्रा में नियमित अंतराल पर सोना खरीद सकता है।
कीवर्ड एमसीएक्स, सोना, ऑप्शन, निवेशक, विकल्प, अनुबंध, धनतेरस, केडिया कमोडिटीज, वायदा,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक