होम » Commodities
«वापस

बढ़ रही ऑनलाइन सोने की चमक

करण चौधरी | नई दिल्ली Oct 18, 2017 09:51 PM IST

रत्न एवं आभूषणों के ऑनलाइन मार्केटप्लेस ने इस बार धनतेरस पर सोने की खूब बिक्री की है। कई मार्केटप्लेस ने बिक्री में 100 फीसदी तक बढ़ोतरी का दावा किया है। आभूषणों के सबसे बड़े ऑनलाइन प्लेटफॉर्मों में कुछ का कहना है कि एक लाख रुपये से कम कीमतों के गहने ज्यादा बिक रहे हैं, जिससे उन्हें बिक्री बढ़ाने में मदद मिली है। नोटबंदी और ग्राहकों के खरीदारी के तरीके में बदलाव से ऑनलाइन बिक्री बढ़ी है। उद्योग के विशेषज्ञों के मुताबिक नोटबंदी के बाद कम वजन और कीमतों के गहने खरीदे जा रहे हैं। ब्लूस्टोन डॉट कॉम के संस्थापक और सीईओ गौरव सिंह कुशवाहा ने कहा, 'धनतेरस पर पिछले साल की तुलना में बिक्री में भारी इजाफा हुआ है। एक लाख रुपये से कम कीमत के आभूषणों की बिक्री अधिक है। मेरा मानना है कि ऑफलाइन बाजार में ज्यादा कीमत के सोने के गहनों की बिक्री घटी है।' इस उद्योग के जानकारों का कहना है कि छूट की वजह से ऑनलाइन बिक्री बढ़ रही है। ऑनलाइन मार्केटप्लेस 10 से 25 फीसदी तक की छूट दे रहे हैं। हालांकि कुशवाहा इससे सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'अमूमन छूट 10 से 15 फीसदी होती है। तनिष्क जैसी ऑफलाइन कंपनियां ही मेकिंग चार्ज में करीब 20 फीसदी छूट दे रही हैं। मैं नहीं मानता कि छूट की वजह से बिक्री बढ़ी है।' इस साल कंपनी ने करीब 250 करोड़ रुपये का माल बेचा है। 
 
अग्रणी ऑनलाइन वॉलेट कंपनी पेटीएम ने धनतेरस पर सोने की बिक्री में 12गुना बढ़ोतरी दर्ज की है। पेटीएम ने अपने प्लेटफॉर्म पर पेटीएम गोल्ड शुरू करने के लिए अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त रिफाइनरी एमएमटीसी पैंप के साथ साझेदारी की है। पेटीएम ने पिछले छह महीनों के दौरान 120 करोड़ रुपये की बिक्री की है। कंपनी ने मार्केटिंग पर 10 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना बनाई है ताकि वह छोटे शहरों के ग्राहकों तक पहुंच सके और उन्हें अपने प्लेटफॉर्म पर सोना खरीदने में सहूलियत, सुरक्षा और पारदर्शिता के बारे में शिक्षित कर सके। पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नितिन मिश्रा ने कहा, 'पेटीएम गोल्ड शुरू होने के बाद इसके करीब 95 फीसदी ग्राहक अपनी लंबी अवधि की बचत योजना के तहत सोना संचित कर रहे हैं। कंपनी का मानना है कि इस त्योहारी सीजन में यह रुझान और बढ़ेगा। पेटीएम 17,000 पिन कोड पर अपनी सेवाएं देने  लगी है, जिससे इसके छोटे शहरों और कस्बों में भी ग्राहक बन रहे हैं। पेटीएम गोल्ड के पास 60 फीसदी मांग छोटे शहरों और कस्बों से आती है।'
 
अन्य ऑनलाइन कंपनियां, जिनके ऑफलाइन स्टोर भी हैं, वे दोनों ही स्तर पर वृद्धि दर्ज कर रही हैं। बहुत से लोगों का मानना है कि इस बार ग्राहक धनतेरस पर सोने का सिक्का या बिस्कुट खरीदने के बजाय उपयोगिता की चीजें खरीद रहे हैं। कैरटलेन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (मार्केटिंग) अतुल सिन्हा ने कहा, 'पिछली धनतेरस की तुलना में हमारी बिक्री दोगुनी हो चुकी है। उपयोगिता की चीजें, विशेष रूप से रोजमर्रा पहने जा सकने वाले गहने खरीदने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है। बहुत से लोग ऑनलाइन आभूषण सर्च कर रहे हैं और फिर इसे देखने और खरीदने के लिए हमारे स्टोरों में आ रहे हैं। सरकार के फैसलों से सोने में बड़े लेनदेन कम हुए हैं। इन दिनों कम कीमत के गहने खरीदने का रुझान है।'
कीवर्ड online, diwali, festive, gold,सराफा बाजार, आभूषण,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक