होम » Commodities
«वापस

उत्तर प्रदेश में गन्ने का एसएपी 10 रुपया बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी

भाषा | लखनऊ Nov 08, 2017 02:27 PM IST

उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल ने चालू पेराई सत्र 2017-18 के लिए अगैती और दूसरी किस्म के गन्ने का राज्य परामर्श मूल्य (एसएपी) 10 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। गन्ने की अगैती प्रजाति के लिए 325 रुपये प्रति क्विंटल एसएपी तय किया है जो पिछले साल 315 रुपये प्रति क्विंटल था। इसी प्रकार सामान्य प्रजाति के लिए 305 से बढ़ाकर 315 रुपये प्रति क्विंटल तथा अनुपयुक्‍त प्रजाति के लिए 300 रुपये से बढ़ाकर 310 रुपये प्रति क्विंटल एसएपी निर्धारित करने का निर्णय किया है। चीनी मिलों को इस वर्ष गन्ने की कीमत का भुगतान एक बार में करने को कहा गया है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कल हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। प्रदेश में कई मिलों ने पेराई शुरू कर दी है। सरकार ने 27 अक्‍टूबर को नगर निकाय के चुनाव की अधिसूचना जारी किए जाने की तात्कालिकता को देखते हुए सरकार ने 26 अक्‍टूबर को नए एसएपी की अधिसूचना जारी कर दी थी जिसे अब मंत्रिमंडल ने इसे औपचारिक अनुमोदन दे दिया है।

समाजवादी पार्टी ने गन्ने के दाम में 10 रुपये का इजाफा करके किसानों के साथ अन्याय और धोखा बताया है। विधान परिषद में सपा के सदस्य राजपाल कश्यप ने कहा कि पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार ने गन्ना किसानों को एक मुश्त 40 रुपये प्रति क्विंटल की मूल्यवृद्धि दी थी। कांग्रेस प्रवक्‍ता वीरेंद्र मदान ने भी इस निर्णय की आलोचना करते हुए कहा है कि भाजपा ने राज्य में सरकार बनाने के पूर्व बड़े जोर-शोर से गन्ना मूल्य 450 रुपये प्रति क्विंटल किए जाने का वादा किया था। अब प्रचंड बहुमत से सत्ता में आने के बाद मात्र 10 रुपये प्रति क्विंटल मूल्य बढ़ाकर किसानों के साथ जबरदस्‍त छलावा किया है।

कीवर्ड उत्तर प्रदेश, गन्ना, एसएपी, योगी आदित्यनाथ, पेराई, अगैती, भुगतान, अधिसूचना,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक