होम » Commodities
«वापस

यूपी में 9 लाख टन धान की हुई सरकारी खरीद

बीएस संवाददाता | लखनऊ Nov 27, 2017 10:03 PM IST

उत्तर प्रदेश में तकनीक की मदद से इस बार धान की सरकारी खरीद में खासी तेजी आई है। एम-किसान पोर्टल और एसएमएस के जरिये इस बार प्रदेश सरकार ने पिछले वर्ष के मुकाबले चार गुने से ज्यादा धान की सरकारी खरीद की है। एम-किसान पोर्टल से करीब 55 लाख तथा मेगा कॉल सेंटर से लगभग 5 लाख किसानों को धान खरीद के बारे में जानकारी दी जा चुकी है। प्रदेश की योगी सरकार ने अबतक 9.20 लाख टन धान की सरकारी खरीद कर ली है जबकि बीते वर्ष इसी अवधि में यह आंकड़ा 2.47 लाख टन था। इस बार योगी सरकार ने प्रदेश में 50 लाख टन धान की सरकारी खरीद का लक्ष्य रखा है। 
 
उत्तर प्रदेश के 2,36,799 पंजीकृत किसानों में से 1.02 लाख किसानों से 9.20 लाख टन धान की खरीद कर 1428.80 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक एम-किसान पोर्टल से 55 लाख किसानों को धान खरीद संबंधी जानकारियां दी गई। वहीं मेगा कॉल सेंटर से भी 5 लाख किसानों को जानकारी दी गई है। प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने सोमवार को निर्देश दिए कि 2 से 15 दिसंबर के बीच जिला प्रशासन के सहयोग से धान खरीद के लिए विशेष अभियान चलाने की कार्ययोजना के अनुसार आवश्यक कार्यवाहियां सुनिश्चित कराई जाए। 
 
उन्होंने कहा कि मंडियों में प्रभावी नीलामी कराने के लिए धान को साफ कराकर, सुखाकर एवं पंखा लगाकर किसानों से धान खरीद कराना सुनिश्चित किया जाए। इस समय प्रदेश सरकार द्वारा नामित 9 खरीद एजेंसियों, खाद्य विभाग एवं पंजीकृत सोसाइटी, पीसीएफ, यूपी एग्रो, पीसीयू, एसएफसी, एनसीसीएफ, नेफेड, भारतीय खाद्य निगम व निजी खरीदार धान की खरीद कर रहे हैं। प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद निवेदिता शुक्ला वर्मा ने बताया कि मोबाइल धान क्रय केंद्र एवं उपकेंद्रों से धान क्रय तेजी से कराने के आदेश दिए गए हैं। भारतीय खाद्य निगम के पास 44.18 लाख टन भंडारण की क्षमता है। इसके अलावा 1 अक्टूबर तक निगम के पास 4.25 लाख टन की अतिरिक्त क्षमता उपलब्ध है।
कीवर्ड uttar pradesh, agri, paddy,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक