होम » Commodities
«वापस

इस साल बढ़ेगा चाय कंपनियों का मुनाफा

दिलीप कुमार झा | मुंबई Jan 07, 2018 09:32 PM IST

उत्पाद की कीमतों में वृद्धि और उत्पादन लागत में स्थिरता से चाय कंपनियों की आमदनी में तेजी से सुधार हुआ। अगस्त के बाद से स्थानीय बाजारों में चाय नीलामी की कीमतों में अचानक बढ़ोतरी के कारण उत्तर में स्थित (दक्षिण के अलावा पूरे भारत की) कंपनियां अधिक लाभ कमा सकती हैं। सितंबर तिमाही के वित्तीय परिणामों में ऐसा नजर आता है। अगस्त तक मंद कीमतों की वजह से टाटा ग्लोबल को छोड़कर ज्यादातर कंपनियों ने जून तिमाही में नुकसान या नाममात्र के लाभ की सूचना दी है। इसलिए, इस वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में लाभ मार्जिन में बदलाव देखने को मिलेगा।
 
रेटिंग एजेंसी इक्रा के उपाध्यक्ष कौशिक दास ने कहा कि पिछले सीजन के अंत में उत्पादन में उछाल के कारण पिछले बचे हुए स्टॉक ने चालू सीजन की शुरुआत में कीमतों पर दबाव डाल दिया था। हालांकि स्थिर उत्पादन, केनियाई उत्पादन में कमी, उच्च निर्यात और बढिय़ा घरेलू मांग के कारण सीजन के जोर पकडऩे के साथ ही उत्तरी भारतीय उत्पादकों की कीमतों में काफी वृद्धि हुई। अगस्त के बाद से चाय के दामों में इजाफे का यह रुख शेष वित्त वर्ष (31 मार्च को समाप्त) में भी जारी रहने के आसार हैं। टी बोर्ड ऑफ इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल और नवंबर के बीच कीमतों में 2.2 रुपये प्रति किलोग्राम की वृद्धि हुई है। हालांकि, मौसमी कारकों के  कारण गुणवत्ता में गिरावट आई जिससे इस महीने नीलामी में कीमतों में कमी आई।  पिछले साल की तुलना में इस साल उत्तर स्थित चाय कंपनियों की वृद्धि दर अधिक रही है। दक्षिण की चाय कंपनियों के लिए यह अप्रत्यक्ष मार्ग था।
 
एक कंपनी के वरिष्ठï अधिकारी ने कहा कि पिछले साल जनवरी में असामान्य मौसमी दशाओं की वजह से कीमतों में गिरावट आई थी। इस साल ऐसा होने की संभावना नहीं है। इसके अलावा, आने वाले महीनों में कम उत्पादन की वजह से चाय की कीमतें ऊंची रहने के आसार हैं, जिसके परिणामस्वरूप उत्पादकों को अधिक लाभ होगा। हालांकि, यह प्रगति लागत के दबाव से प्रभावित हो सकती है, मुख्य रूप से बढ़ती मजदूरी के कारण। इस कैलेंडर वर्ष के पहले 10 महीनों के दौरान उत्पादन में कुल वृद्धि 1.4 प्रतिशत के साथ 1,08.99 करोड़ किलोग्राम रही। मुख्य रूप से दक्षिणी उत्पादन में वृद्धि के कारण ऐसा हुआ।
 
कीवर्ड tea, bagan, चाय बोर्ड दार्जिलिंग,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक