होम » Commodities
«वापस

बीटी की अवैध बिक्री की जांच होगी

एजेंसियां/रॉयटर्स |  Feb 08, 2018 10:04 PM IST

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में बीटी कपास के बीजों के अवैध उत्पादन और बिक्री की जांच के विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। इन बीजों में अनधिकृत जीन है। राज्य खुफिया विभाग के आयुक्त संजय बर्वे को एसआईटी का प्रमुख बनाया गया है जबकि अमरावती क्षेत्र के कृषि संयुक्त निदेशक सुभाष नागरे उनके सहायक होंगे। एक सरकारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि बरवे और नगारे जरूरत के मुताबिक और सदस्यों की नियुक्ति कर सकते हैं। इसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार की जेनेटिक इंजीनियरिंग मूल्यांकन समिति ने अभी तक इस तरह के जीन वाले बीटी कपास के बीजों के उत्पादन की अनुमति नहीं दी है।  पिछले साल 17 नवंबर को राज्य सरकार ने केंद्र को एक पत्र लिखकर इस मामले की सीबीआई जांच का अनुरोध किया था। राज्य सरकार का कहना था कि कई राज्यों में अनधिकृत जीन वाले बीटी कपास बीजों का उत्पादन हो रहा है।

 
भारत के पोल्ट्री आयात पर सऊदी की रोक
 
सऊदी अरब ने भारत से जीवित पक्षी, अंडे और मुर्गियों के आयात पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है। मंगलवार को सऊदी कृषि मंत्रालय ने बताया कि इस कदम का कारण दक्षिण एशियाई देशों में एक प्रकार का बर्ड फ्लू पाया जाना है जो पोल्ट्री के लिए अत्यधिक घातक है।  जनवरी में वल्र्ड ऑर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्थ (ओआईई) ने भारतीय कृषि मंत्रालय की रिपोर्ट का हवाला दिया था, जिसमें कहा गया था कि बेंगलूरु के निकट एक अत्यधिक संक्रामक बर्ड फ्लू वायरस का पता चला है। सऊदी पर्यावरण, पेयजल एवं कृषि मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि पेरिस स्थित ओआईई द्वारा जारी चेतावनी के बाद यह प्रतिबंध लगाया गया है। सऊदी समाचार एजेंसी एसपीए ने यह जानकारी दी। ओआईई की रिपोर्ट के अनुसार, 26 दिसंबर 2017 को दसरहल्ली (बेंगलूरु) गांव में एच5एन8 वायरस की पुष्टि हुई थी जिसके कारण 951 में से 9 पक्षियों की मौत हो गई थी और बाकी पक्षियों को मार दिया गया था। हालांकि रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया था कि यह वायरस किस पक्षी में पाया गया था।
कीवर्ड BT cotton, poltry,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक