होम » Commodities
«वापस

गन्ने की पैदावार बढऩे से चीनी उत्पादन में वृद्धि का अनुमान

दिलीप कुमार झा | मुंबई Mar 05, 2018 10:45 PM IST

चीनी उद्योग की शीर्ष संस्था इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (इस्मा) चालू वर्ष के लिए चीनी उत्पादन के अनुमान को संशोधित करने की तैयारी में है। महाराष्टï्र में गन्ने की उपज में अप्रत्याशित वृद्धि के कारण ऐसा किया जा रहा है। 2017-18 के पेराई सीजन की शुरुआत में 2.51 करोड़ टन के अपने आरंभिक अनुमान को संशोधित करते हुए इस्मा ने 18 जनवरी को भारत के चीनी उत्पादन का अनुमान 10 लाख टन तक बढ़ाकर 2.61 करोड़ टन कर दिया। उस समय चीनी उत्पादन का अनुमान महाराष्टï्र में गन्ने की पैदावार के शुरुआती संकेतों के आधार पर लगाया गया था। उस समय परिचालन कर रही अधिकतर मिलों को पेराई के लिए गन्ने की शुरुआती किस्म ही मिली थी।
नवंबर-दिसंबर की अवधि में बेमौसमी बारिश इस साल महाराष्टï्र में गन्ने की भरपूर पैदावार में मददगार रही, जबकि पिछले साल सूखे की मार से कम उपज हुई थी। विशेषज्ञों ने गन्ने की सभी किस्मों में सर्वकालिक उच्च पैदावार के साथ राज्य में रिकॉर्ड चीनी उत्पादन का संकेत दिया है। ऑल इंडिया शुगर ट्रेड एसोसिएशन पहले ही 2017-18 के चीनी सीजन उत्पादन के अपने पूर्व अनुमान 2.64 करोड़ टन को संशोधित करके 2.9 करोड़ टन कर चुकी है, जबकि महाराष्टï्र का उत्पादन अनुमान 85 लाख टन से बढ़ाकर एक करोड़ टन और कर्नाटक के उत्पादन अनुमान को 25 लाख टन से बढ़ाकर 35 लाख टन किया गया है।
इस्मा के महानिदेशक अविनाश वर्मा ने कहा कि हम 7 मार्च को निर्धारित बोर्ड की अपनी अगली बैठक में चीनी उत्पादन के आंकड़ों पर अंतिम फैसला करेंगे। लेकिन, पहले के अनुमानों की तुलना में गन्ना उपज ज्यादा रहने की उम्मीद है, इस वजह से हमें विश्वास है कि अपने उत्पादन के अनुमानों को संशोधित करेंगे। आरंभिक अनुमान बताते हैं कि महाराष्टï्र में पेराई के लिए गन्ने की उपलब्धता के आधार पर चीनी उत्पादन 82-85 लाख टन के बीच रहने का अनुमान है। राज्य में परिचालित 185 मिलों में से सात ने चालू सीजन में काम बंद करनेे की घोषणा कर दी है। सीजन की शुरुआत में चीनी मिलों ने राज्य में करीब 7.2 करोड़ टन चीनी के अनुमानित उत्पादन में से चीनी कारखानों में पेराई के लिए 6.5 लाख टन गन्ने की उपलब्धता का अनुमान लगाया। 
चीनी मिल पहले ही पेराई के इस अनुमानित आंकड़े को पार कर चुकी हैं और कुल 7.676 करोड़ टन की गन्ना पेराई कर चुकी हैं। 10.99 (पिछले साल के 11.20 प्रतिशत से 0.21 प्रतिशत कम) की औसत उपज के साथ महाराष्टï्र ने कुल 85.4 लाख टन चीनी उत्पादन किया है। चीनी उत्पादन के संबंध में भी इन मिलों ने सीजन की शुरुआत में 84 लाख टन के अपने कुल उत्पादन के पूर्वानुमान को पार कर लिया है।
कीवर्ड चीनी उद्योग, इस्मा,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक