होम » Commodities
«वापस

गोवा में पांच दशक पुराना खनन उद्योग अनिश्‍चितता के मुहाने पर

भाषा | पणजी Mar 15, 2018 01:08 PM IST

उच्चतम न्यायालय का गोवा में लौह अयस्क खनन संबंधी गतिविधियां बंद करने का आदेश आज रात से प्रभावी होने के साथ ही प्रदेश का पांच दशक पुराना खनन उद्योग अनिश्चितता के कगार पर आ खड़ा हुआ है। गोवा के कृषि मंत्री विजय सरदेसाई ने कल कहा था कि खनन प्रतिबंध प्रभावी होने के बाद राज्य को 'सबसे बड़े' संकट का सामना करना पड़ेगा। खनन और पर्यटन क्षेत्र गोवा की आय के प्रमुख स्त्रोत हैं। मंत्रिमंडल समिति ने कल राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से उद्योग और उसके हितधारकों को बचाने का आखिरी प्रयास करने के लिए शीर्ष न्यायालय में समीक्षा याचिका दायर करने का आग्रह किया है। फिलहाल पर्रिकर इलाज के लिए अमेरिका में हैं।

राज्य सरकार को चिंता है कि अचानक लौह अयस्क का खनन बंद होने से उनमें विभिन्न स्तरों पर काम करने वाले करीब दो लाख लोगों का रोजगार छिन जाएगा। इस बीच सरकार ने व्यापक योजना तैयार की है, जिसके तहत खदान मालिक अयस्क निकासी को रोक देंगे, जबकि मशीनों को बाद में साइटों से निकाल लिया जाएगा। न्यायालय ने पिछले महीने गोवा में 88 कंपनियों के लौह अयस्क खनन पट्टे रद्द कर दिए। 2015 में गोवा सरकार ने दूसरी बार इनका नवीनीकरण किया था। पीठ ने कहा कि पहले फैसले की व्यवस्था के विपरीत जिन कंपनियों के पट्टों का दूसरी बार नवीनीकरण किया गया है, वे 15 मार्च तक खनन गतिविधयां जारी रख सकती हैं। हालांकि उन्हें 16 मार्च, 2018 से उस समय तक खनन कार्य बंद करने का निर्देश दिया जाता है और जब तक उन्हें खनन के लिए नया पट्टा और पर्यावरण मंजूरी नहीं मिल जाती, वे खनन नहीं करेंगी।

खदान मालिक और गोवा माइनिंग एसोसिएशन के सदस्य हरेश मेलवानी ने कहा, 'उद्योग के रफ्तार नहीं पकड़ने का मुख्य कारण चीन जैसे बाजारों से मांग में कमी है, जो कि गोवा से निकलने वाले अयस्क का पारंपरिक खरीदार है। राज्य में उत्पादित अयस्क कम गुणवत्ता वाला है और अंतरराष्ट्रीय बाजार में उसकी कोई कीमत नहीं है।' उन्होंने कहा कि प्रतिबंध हटा लिया जाता है, तब भी उत्पाद पर कराधान जैसे कई कारणों के चलते उद्योग को संकट का सामना करना पड़ेगा। खनन उद्योग को बंद करने का गोवा पर आर्थिक प्रभाव पड़ने की आशंका है।

कीवर्ड गोवा, खनन उद्योग, उच्चतम न्यायालय, कृषि मंत्री, पर्यटन, लौह अयस्क, रोजगार,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक