होम » Commodities
«वापस

फेड के फैसले से सोने में सुधार

राजेश भयानी | मुंबई Mar 22, 2018 10:35 PM IST

सोने के साथ धातु भी मामूली चढ़ी

सोना बुधवार को 1,315 डॉलर से नीचे चला गया था, जो फेड की ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा के तुरंत बाद सुधरकर 1,330 डॉलर के पार पहुंच गया
मुंबई में स्टैंडर्ड सोना 0.7 फीसदी बढ़कर 30,525 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ, जबकि चांदी 1.25 फीसदी बढ़कर 38,480 रुपये किलो पर बंद हुआ

अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के बुधवार को ब्याज दर .25 फीसदी बढ़ाने से सोने और धातुओं की कीमतों में सुधार आया है। फेडरल रिजर्व ने इस साल ब्याज दरों में 2 से 3 अन्य .25 फीसदी की बढ़ोतरी और अगले साल भी 3 बार बढ़ोतरी का संकेत दिया है।  ब्याज दर में बढ़ोतरी का यह फैसला सर्वसम्मति से लिया गया। बाजार को पहले ही इस साल दो बार और ब्याज दर बढ़ाए जाने की उम्मीद थी। आज एलएमई पर तांबे की कीमतें 6,830 डॉलर पर थीं, जबकि ये हाल में तीन महीने के निचले स्तर 6,702 डॉलर प्रति टन पर थीं।

हालांकि बाजार को यह संकेत मिला है कि ब्याज दरों में बढ़ोतरी की रफ्तार उम्मीद से कम रहेगी। वृद्धि की संभावनाओं से मूल धातुओं को सुधरने में मदद मिली है। बुधवार को फेड की घोषणा से पहले ही मूल धातुुओं में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। सोना बुधवार को 1,315 डॉलर से नीचे चला गया था, जो फेड के ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा के तुरंत बाद सुधरकर 1,330 डॉलर के पार पहुंच गया। 

एमसीएक्स पर तांबा, एल्युमीनियम और निकल वायदा भी चढ़े, लेकिन रुपये में मामूली मजबूती से बढ़ोतरी सीमित रही। मुंबई में स्टैंडर्ड सोना 0.7 फीसदी बढ़कर 30,525 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ, जबकि चांदी  का भाव 1.25 फीसदी बढ़कर 38,480 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ।  हालांकि ब्याज दर में बढ़ोतरी और वृद्धि दर में इजाफे, कम बेरोजगारी एवं महंगाई दर में संभावित बढ़ोतरी के आसार बढऩे से धातुओं और सोने की मांग बढ़ी है।

कॉमट्रेंड्ज रिस्क मैनेजमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के प्रमुख ज्ञानशेखर त्यागराजन ने कहा, 'महंगाई के दौर में सोना अच्छा प्रदर्शन करता है। ब्याज दर में 2 या 3 बढ़ोतरी से महंगाई बढ़ेगी। इसके अलावा दरें बढऩे पर शेयरों जैसी जोखिम वाली आस्तियों के बेहतर प्रदर्शन नहीं करने के आसार हैं। इससे सोने में ज्यादा हलचल देखने को मिलेगी।' 

हालांकि ऐसा लगता है कि सोने की कीमतें उबर आई हैं। लेकिन नेटिक्सिज कमोडिटी रिसर्च में विश्लेषक मिकालिया फेल्डस्टेन ने एक नोट में कहा कि तकनीकी रूप से सोना 1,322 डॉलर का स्तर पार कर चुका है, जो एक अहम तकनीकी आंकड़ा है। उन्होंने कहा, 'हमारा अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में सोने में तेजी आएगी, लेकिन 1,335 से 1,337 का स्तर पार करने के बाद तेजी के इस नजरिये को बल मिलेगा। नेटिक्सिज का कहना है कि सोने के लिए समर्थन 1,307 से 1,309 पर है और अगला अहम प्रतिरोध 1,356 डॉलर होगा। 

हालांकि धातुएं समष्टि आर्थिक प्रभावों से सुधर रही हैं। मोतीलाल ओसवाल में जिंस एवं मुद्रा प्रमुख किशोर नार्ने ने कहा, 'हाल में मजबूत डॉलर की वजह से मूल धातुओं पर दबाव है। लेकिन फेड की बैठक में कम आक्रामक कदम से डॉलर फिसला है, जिससे मूल धातुओं को समर्थन मिला है। धातुएं खुद अपने फंडामेंटल से नहीं बल्कि समष्टि आर्थिक घटनाक्रम की वजह से बढ़ रही हैं। लघु अवधि के रुझानों से थोड़ी तेजी आ सकती है, लेकिन मूल धातुुओं के लिए मध्यम अवधि का रुझान कमजोर है।'
कीवर्ड सोना, डॉलर, फेडरल रिजर्व, धातु, तांबा, ब्याज दर, एमसीएक्स, एल्युमीनियम, निकल, चांदी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक