होम » Commodities
«वापस

भारतीय व बहुराष्ट्रीय बीज कंपनियों ने की नए बीज संघ की स्थापना

भाषा | नई दिल्ली Apr 16, 2018 10:01 PM IST

कृषि बीज क्षेत्र से संबंधित नीतिगत मुद्दों को उठाने और नई कृषि प्रौद्योगिकियों को प्रोत्साहित करने के लिए मोन्सेन्टों, सिन्जेन्टा, राशि सीड्स और श्रीराम बायोसीड्स जैसी वैश्विक और घरेलू बीज कंपनियों ने एक नया संघ एलायंस फॉर एग्री इनोवेशन (एएआई) का निर्माण किया है। बायर बायोसाइंस , डॉव एग्रो साइंसेज, ड्यूपॉन्ट पायनियर , माहिको और मेटाहेलिक्स भी एग्रीसेंस फॉर एग्री इनोवेशन (एएआई) के सदस्य हैं। पेटेन्ट और रॉयल्टी के मुद्दों को लेकर अमेरिका की प्रमुख जैव - प्रौद्योगिकी बीज कंपनी मोनसेंटो और भारतीय कंपनी नुज़ेवेडू सीड्स लिमिटेड के बीच कानूनी लड़ाई जारी रहने के बीच इस नए संगठन की स्थापना को अंजाम दिया गया है। 
 
हाल ही में , दिल्ली उच्च न्यायालय ने भारत में बीटी कपास के बीज के लिए पेटेंट लागू करने के संबंध में मोन्सेंटो की याचिका को खारिज कर दिया। एएआई ने एक बयान में कहा कि भारतीय किसानों के लाभ के लिए यह नए उभरती हुई कृषि प्रौद्योगिकियों को प्रोत्साहन देने के लिए एक नया उद्योग संगठन बना है।  एसोसिएशन ने कहा कि यह भारत में किसानों के फायदे के लिए भारत में कृषि जैव प्रौद्योगिकी और अन्य उभरते हुए पौधे प्रजनन अन्वेषणों के विकास पर ध्यान केंद्रित करेगा। बयान में कहा गया है कि एएआई सभी अंशधारकों के साथ मिलकर एक पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करने के लिए काम करेगा जो बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) के लिए सुरक्षा प्रदान करता हो। एएआई के कार्यकारी निदेशक शिवेन्द्र बजाज ने कहा कि बीज प्रौद्योगिकियों में अन्वेषणों को बढ़ावा देने के लिए सारे सदस्य साथ एकजुट हुए हैं।
कीवर्ड agri, farmer, seed,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक