होम » Commodities
«वापस

तैयार इस्पात निर्यात 16.7 प्रतिशत बढ़ा

भाषा |  May 06, 2018 10:00 PM IST

देश का तैयार इस्पात निर्यात 2017-18 में 16.7 प्रतिशत बढ़कर 96.21 लाख टन हो गया है, जबकि 2016-17 में 82.42 लाख टन इस्पात का निर्यात किया गया था। इस्पात मंत्रालय की संयुक्त संयंत्र समिति (जेपीसी) की रिपोर्ट में यह कहा गया है। जेपीसी ने रिपोर्ट में कहा कि वित्त वर्ष 2016-17 के मुकाबले अप्रैल-मार्च 2017-18 में कुल तैयार इस्पात का निर्यात 16.7 प्रतिशत बढ़कर 96.21 लाख टन हो गया। इसमें मिश्र धातु रहित इस्पात (नॉन-अलॉय स्टील) का योगदान 87.27 लाख टन जबकि शेष योगदान स्टेनलैस स्टील समेत मिश्र धातु इस्पात का है।
 
मार्च 2018 में, समग्र निर्यात 56.3 प्रतिशत गिरकर 7.08 लाख टन रह गया, जो कि एक वर्ष पहले इसी अवधि में 16.21 लाख टन था। वहीं, मार्च महीने के दौरान समग्र आयात 19.7 प्रतिशत गिरकर 6 लाख टन से 4.8 लाख टन रह गया।  रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017-18 में कुल तैयार इस्पात का आयात 74.82 लाख हो गया, जो कि 2016-17 के आयात से 3.5 प्रतिशत अधिक है। इसमें मिश्र धातु रहित इस्पात (नॉन-अलॉय स्टील) का योगदान 56.36 लाख टन जबकि शेष योगदान स्टेनलेस स्टील समेत मिश्र धातु इस्पात का है। 2016-17 में आयात 72.26 लाख टन था। 
 
वित्त वर्ष 2017-18 में देश का कुल तैयार इस्पात उत्पादन 3.1 प्रतिशत बढ़कर 10.49 करोड़ टन हो गया है। इसमें मिश्र धातु रहित इस्पात खंड का योगदान 9.50 करोड़ टन और बाकी हिस्सा मिश्र स्टेनलैस स्टील सहित धातु इस्पात खंड का है। सरकारी कंपनी सेल, राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड समेत निजी इस्पात कंपनियों टाटा स्टील, एस्सार स्टील, जेएसडब्ल्यू और जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड ने 2017-18 के दौरान 6.26 करोड़ टन इस्पात का उत्पादन किया। बाकी उत्पादन अन्य कंपनियों ने किया।
कीवर्ड iron ore, steel, export,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक