होम » Commodities
«वापस

भारत का समुद्री खाद्य निर्यात 13 प्रतिशत बढ़ा

निर्माल्य बेहड़ा | भुवनेश्वर May 06, 2018 10:01 PM IST

भारत ने 2017-18 के पहले 10 महीनों के दौरान 13.27 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए 5.64 अरब डॉलर मूल्य के समुद्री खाद्य का निर्यात किया है, जबकि पिछले साल यह 4.98 अरब डॉलर था। झींगा उत्पादन करने वाले प्रमुख निर्यातकों की ओर से अधिक आपूर्ति और जांच के कड़े नियमों के बावजूद निर्यात में यह इजाफा हुआ है। मात्रा के रूप में वित्त वर्ष 18 में जनवरी तक भारत ने 10,85,378 टन समुद्री खाद्य का निर्यात किया, जबकि वित्त वर्ष 17 की समान अवधि में यह मात्रा 9,54,744 टन थी। इस तरह, मात्रा के रूप में 13.68 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

 
समुद्री उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण के चेयरमैन ए जयतिलक ने कहा कि भारत के समुद्री खाद्य निर्यात में तेजी बनी रही। प्रमुख झींगा उत्पादक देशों की ओर से अधिक आपूर्ति के कारण झींगा के वैश्विक दामों में गिरावट और फ्रोजन झींगा कीखेप में एंटीबायोटिक अवशेषों का पता लगाने के लिए यूरोपीय संघ द्वारा जांच के कड़े नियम लागू किए जाने के बावजूद ऐसा हुआ। इसके अलावा, हमें इक्वाडोर और अर्जेंटीना जैसे देशों से भी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ा था। उन्होंने कहा कि अभी भी हम निर्यात के मोर्चे पर वृद्धि की इस रफ्तार को बनाए रखने में सक्षम हैं, जो भारत के समुद्री खाद्य क्षेत्र में मजबूती का प्रमाण है। हमने निर्यात पर केंद्रित जैविक झींगा उत्पादन के लिए कदम उठाए हैं और मत्स्य उत्पाद में तेजी लाने के लिए नई रणनीति की शुरुआत की है तथा खराब खेपों को रोकने के लिए सतर्कता में वृद्धि की है।
 
अमेरिका, दक्षिण पूर्व एशिया और यूरोपीय संघ तीन प्रमुख आयातक बने हुआ हैं, जबकि इस अवधि में जापान की ओर से मांग में काफी इजाफा हुआ है। मत्स्य उत्पादों में फ्रोजन झींगा निर्यात की जाने वाली प्रमुख वस्तु बना हुआ है। मात्रा के रूप में इसका हिस्सा 42.05 प्रतिशत और डॉलर की कुल कमाई में 69.95 प्रतिशत हिस्सा रहता है।  डॉलर के रूप में 33.99 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ अमेरिका प्रमुख आयातक बना हुआ है, जिसने 1.917 अरब डॉलर मूल्य के 2,03,837 टन भारतीय समुद्री खाद्य का आयात किया। यूरोपीय संघ को फ्रोजन झींगा के निर्यात में मात्रा के रूप में 6.98 प्रतिशत तक की और डॉलर के रूप में 3.26 प्रतिशत की गिरावट आई है। ब्लैक टाइगर झींगा के लिए जापान डॉलर के रूप में 49.38 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ प्रमुख बाजार के तौर पर उभरा है। इसके बाद अमेरिका (18.09 प्रतिशत) और दक्षिण पूर्व एशिया (15.06 प्रतिशत) का स्थान है।
कीवर्ड sea food, fish, export,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक