एचपीसीएल में सरकारी हिस्सेदारी बिक्री के संबंध में ओएनजीसी को सूचना ज्ञापन

भाषा | नई दिल्‍ली Nov 02, 2017 05:01 PM IST

सरकार ने एचपीसीएल में अपनी हिस्सेदारी बिक्री को लेकर ओएनजीसी को सूचना ज्ञापन भेज दिया है। सूचना ज्ञापन में कंपनी के बारे में पूरा ब्योरा है। इसके आधार पर ओएनजीसी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचपीसीएल में बहुलांश हिस्सेदारी खरीदेने के लिए पेशकश करेगी। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। यह सूचना ज्ञापन पहले आना था लेकिन इसे भेजने में कई सप्ताह की देरी हुई है। उल्लेखनीय है कि मंत्रिमंडल ने 19 जुलाई को हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (एचपीसीएल) में सरकार की पूरी 51.11 प्रतिशत हिस्सेदारी तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) को बेचने को मंजूरी दी है। सरकार ने चालू वित्त वर्ष में विनिवेश के जरिये 72,500 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। यह कदम उसी का हिस्सा है।

हिस्सेदारी बिक्री को लेकर अगस्त में सौदा सलाहकार नियुक्त किया गया था और यह उम्मीद थी कि एचपीसीएल की संपत्ति और देनदारी के बारे में पूरे ब्योरे वाला सूचना ज्ञापन ओएनजीसी को सितंबर मध्य में सौंप दिया जाएगा, ताकि उसे हिस्सेदारी खरीद मूल्य के बारे में निर्णय में मदद मिल सके। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। एक अधिकारी ने कहा, सामान्य रूप से रणनीतिक हिस्सेदारी बिक्री के रूप में सरकार संभावित अधिग्रहणकर्ता कंपनी के लिए संबंधित इकाई के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध कराती है, लेकिन एचपीसीएल के मामले में ज्यादातर वे सूचनाएं हैं जो पहले से सार्वजनिक है और इसे सूचना ज्ञापन में रखा गया है। मूल रूप से निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) अक्‍टूबर या नवंबर में सौदा पूरा करने को लेकर गंभीर था लेकिन ओएनजीसी को सूचना ज्ञापन 31 अक्‍टूबर को दिया गया।

इस बारे में ओएनजीसी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शशि शंकर ने कहा कि कंपनी सौदा 31 मार्च तक पूरा करने की उम्मीद कर रही है। उन्होंने कल संवाददाताओं से कहा, हमें मंगलवार को सूचना ज्ञापन मिला और हम इसके आधार पर एचपीसीएल का स्वतंत्र मूल्यांकन करेंगे। दीपम ने हिस्सेदारी बिक्री के लिए जेएम फाइनैंशियल को नियुक्त किया है। मौजूदा भाव पर इस हिस्सेदारी बिक्री से सरकार को करीब 35,000 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसके अलावा सिरिल अमरचंद मंगलदास को हिस्सेदारी बिक्री के प्रबंधन के लिए कानूनी सलाहकार नियुक्त किया गया है। शंकर ने कहा, हमने सिटीग्रुप और एसबीआई कैप्स को अपना सौदा सलाहकार नियुक्त किया है।

कीवर्ड एचपीसीएल, सरकारी हिस्सेदारी, बिक्री, ओएनजीसी, सूचना ज्ञापन, गैस, अधिग्रहण, दीपम,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक