दूसरी तिमाही में स्टेट बैंक का एकीकृत लाभ बढ़कर 1,840 करोड़ रुपए

भाषा | मुंबई Nov 10, 2017 03:03 PM IST


एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस में बैंक की कुछ हिस्सेदारी की बिक्री से बढ़ा लाभ
हालांकि बैंक का सकल एनपीए 9.83 प्रतिशत पर पहुंच गया

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक का सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही के दौरान एकीकृत लाभ पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले कई गुना बढ़कर 1,840.43 करोड़ रुपए हो गया। एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस में बैंक की कुछ हिस्सेदारी की बिक्री से लाभ में वृद्धि को बढ़ावा मिला। एक साल पहले दूसरी तिमाही में बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ 20.70 करोड़ रुपए था। हालांकि, दूसरी तिमाही में एकल आधार पर बैंक का मुनाफा फंसी कर्ज राशि (एनपीए) बढऩे से 37.9 प्रतिशत गिरकर 1,581.55 करोड़ रुपए रह गया। पिछले साल बैंक का एकल शुद्ध लाभ 2,538.32 करोड़ रुपए रहा था।

चालू वित्त वर्ष के दौरान जुलाई से सितंबर तिमाही के दौरान एकल आधार पर बैंक की कुल आय बढ़कर 65,429.63 करोड़ रुपए हो गई। पिछले साल इसी अवधि में यह 50,742.90 करोड़ रुपए रही थी। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने यह जानकारी दी है। आलोच्य तिमाही के दौरान बैंक के फंसे कर्ज की स्थिति और बिगड़ी है। 30 सितंबर को बैंक का सकल एनपीए 9.83 प्रतिशत पर पहुंच गया। पिछले साल इसी अवधि में यह 7.14 प्रतिशत था। वहीं, बैंक का शुद्ध एनपीए पिछले साल के 4.19 प्रतिशत से बढ़कर 5.43 प्रतिशत हो गया। फंसे कर्ज का अनुपात बढऩे के साथ ही इसके लिए किया जाना प्रावधान भी बढ़कर दोगुने से भी अधिक 16,715.20 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। पिछले साल इसी अवधि में यह राशि 7,669.66 करोड़ रुपए पर था।

 
कीवर्ड SBI, Profit, September, NPA, भारतीय स्टेट बैंक, सितंबर तिमाही, एकीकृत लाभ,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक