7,670 मेगावॉट सौर संयंत्र होंगे स्थापित

श्रेया जय | नई दिल्ली Apr 17, 2018 10:05 PM IST


देश में अगले दो महीनों के दौरान करीब 7,670 मेगावॉट क्षमता वाली सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए निविदाएं जारी होंगी। इनके लिए एक मानक दर (बेंचमार्क रेट) रखी जाएगी, जिनमें परियोजनाओं के स्थान के हिसाब से बदलाव होंगे। ऐसा पहली बार हो रहा है जब अलग-अलग अधिकतम दर (सीलिंग रेट) तय की जा रही हैं।

इसके अलावा बाजार भाव से कम दर पर बोली लगाने के लिए बोलीदाताओं के लिए वायबिलिटी गैप फंडिंग (अर्थव्यवस्था की दृष्टि से महत्त्वपूर्ण लेकिन वित्तीय दृष्टिकोण से अव्यवहार्य परियोजनाओं के लिए कोष) की व्यवस्था नहीं होगी।  3,000 मेगावॉट परियोजना संकुल (250-250 मेगावॉट की 12 इकाइयां) के लिए अधिकतम शुल्क अगले 25 साल के लिए 2.93 रुपये प्रति यूनिट होगा।

बोलीदाताओं को इन मानक दरों से नीचे बेालियां लगानी होंगी। ये परियोजनाएं देश भर में स्थापित की जाएंगी। परियोजना का स्थान और बिजली की बिक्री का प्रबंधन सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एसईसीआई) करेगा। एसईसीआई सौर परियोजनाओं के लिए निविदा जारी करने वाली अधिकृत इकाई है।  2,000 मेगावॉट क्षमता वाली सौर परियोजना की दूसरी खेप देश भर में स्थापित की जाएगी।

आंध्र प्रदेश में कडापा सोलर पार्क (750 मेगावॉट) और कर्नाटक में पावगडा सोलर पार्क (200 मेगावॉट) परियोजनाओं की पेशकश भी समान मानक दरों पर की जाएगी। पिछले साल रीवा सोलर पार्क (750 मेगावॉट) परियोजना की बोली के दौरान 2.97 रुपये प्रति यूनिट की दर सामने आई थी। उत्तर प्रदेश में 1,650 मेगावॉट सौर ऊर्जा परियोजनाएं होंगी और यहां सीलिंग रेट 3.43 रुपये प्रति यूनिट होगी।

राज्य के विभिन्न हिस्सों में छह सोलर पार्क (प्रत्येक की क्षमता 275 मेगावॉट) हैं। असम में 70 मेगावॉट सौर ऊर्जा परियोजना के लिए भी समान सीलिंग रेट रखी गई है। सौर ऊर्जा शुल्क में लगातार कमी आ रही है और पिछले साल यह 2.44 रुपये प्रति यूनिटी के निम्रतम स्तर पर पहुंच गया था। बाद में गुजरात में आयोजित एक नीलामी में यह मामूली बढ़कर 2.65 से 3.36 रुपये प्रति यूनिट के स्तर पर पहुंचा।

पुरानी परियोजनाओं की शुरुआत की गति के मुकाबले शुल्क में अधिक कमी दर्ज हुई, जिसे देखते हुए राज्य महंगी दरों पर अक्षय ऊर्जा खरीदने से दूर रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि सौर ऊर्जा दरें स्थिर करने के लिए सरकार एक मानक दर तय करने के बारे में सोच रही है।

कीवर्ड power, electric, solar, सौर ऊर्जा परियोजना, बेंचमार्क रेट, सीलिंग रेट, वायबिलिटी गैप फंडिंग,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक