देरी से उड़ान नहीं करेगी परेशान!

अरिंदम मजूमदार | नई दिल्ली May 23, 2018 11:00 AM IST

यात्रियों को मुआवजे पर नए प्रस्ताव

टिकट का पूरा पैसा करना होगा वापस
►  होटल में ठहरने का भी करना होगा इंतजाम
खान-पान की भी सुविधा करानी होगी उपलब्ध
विमानन कंपनियों को हो सकता है वित्तीय नुकसान
विमानन कंपनियों ने प्रस्ताव पर जताया एतराज
कंपनियों ने कहा ढांचागत दिक्कतों से उड़ान में होती है देरी

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने हवाई यात्रियों को मुआवजा बढ़ाने का प्रस्ताव रखते हुए कहा कि अगर उड़ान में देरी होने से किसी यात्री की दूसरी उड़ान छूट जाती है तो विमानन कंपनियां इसका हर्जाना भरें। हालांकि विमानन कंपनियों ने इस प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया है। नागरिक उड्डïयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने मंगलवार को कहा कि पैसेंजर चार्टर के मसौदे में हवाई यात्रियों के अधिकारों को परिभाषित किया गया है और इसे लोगों के सुझाव के लिए सार्वजनिक किया जा रहा है।

सिन्हा ने कहा, 'इससे हवाई यात्रा को अधिक सुगम बनाने में मदद मिलेगी।' इसमें कहा गया है कि विमानन कंपनियों को शारीरिक रूप से अक्षम यात्रियों के लिए भी खास इंतजाम करने होंगे। ऐसी व्यवस्था करना अनिवार्य होगा और इसके एवज में वे कोई अतिरिक्त शुल्क भी नहीं ले सकेंगी। विमानन कंपनियों ने मुआवजे के प्रावधानों में बदलाव का विरोध किया है।

उनका कहना है कि हवाई ईंधन की कीमतें बढऩे से उनका मुनाफा पहले ही दबाव में है और अब इस तरह के नियमों से उन पर दोहरी मार पड़ेगी। विमानन कंपनियों के संगठन फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस का कहना है कि बड़े हवाई अड्डïों पर देरी की बड़ी वजह बुनियादी ढांचे की समस्याएं हैं। इसके लिए विमानन कंपनियों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।

ऐसे समय में जब पूरा उद्योग तेल की ऊंची कीमतों से परेशान है, मुआवजा बढ़ाने से विमानन कंपनियों को भारी वित्तीय नुकसान होगा। प्रस्तावित नियमों के मुताबिक अगर उड़ान के निर्धारित समय से 24 घंटे पहले यात्री को विलंब के बारे में जानकारी दी जाती है और उड़ान में 4 घंटे से अधिक देर होने वाली है तो एयरलाइन को टिकट के पूरे पैसे यात्रियों को वापस देने का विकल्प देना होगा।

अगर उड़ान काफी विलंब के चलते अगले दिन संचालित की जाती है तो विमानन कंपनी को यात्रियों को होटल में ठहराने का इंतजाम करना होगा और इसके लिए वह उनसे कोई अतिरिक्त राशि नहीं लेगी।  अगर उड़ान में देरी के कारण यात्री की आगे की उड़ान छूट जाती है तो विमानन कंपनी को इसके लिए हर्जाना देना होगा। 

कीवर्ड aviation, flight, late, compentation, नागरिक उड्डïयन मंत्रालय, मुआवजा, उड़ान में देरी, हर्जाना,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक