आधार की जगह वर्चुअव आईडी अपनाने के लिए दूरसंचार कंपनियां बदलें प्रणाली

भाषा | नई दिल्ली Jun 13, 2018 04:30 PM IST

सरकार ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं से कहा है कि वे अपनी प्रणालियों तथा नेटवर्क में उचित बदलाव करें जिससे आधार संख्या की जगह वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल संभव हो। इसके साथ ही मोबाइल ग्राहकों के लिए सीमित केवाईसी प्रणाली की ओर बढ़ा जा सके। यह पहल एक जुलाई से आधार संख्या की जगह वर्चुअल आईडी प्रणाली के कार्यान्वयन को देखते हुए की गई है। दूरसंचार विभाग ने इस बारे में अधिसूचना जारी की है।

इसके अनुसार यूआईडीएआई द्वारा वर्चुअल आईडी के कार्यान्वयन के लिए प्रस्तावित बदलावों को ध्यान में रखते हुए सभी लाइसेंसधारक दूरसंचार कंपनियों को अपनी प्रणाली में उचित बदलाव करना होगा। वर्चुअल आईडी प्रणाली 16 अंकों की एक विशेष लेकिन अस्थाई संख्या है जिसे आधार की जगह सृजित किया जा सकेगा। आधार डेटा की सुरक्षा व गोपनीयता को और सुरक्षित करने के लिए इस फीचर को अगले महीने से लागू किया जा रहा है।

कीवर्ड Aadhar, virtual id, telecom companies, आधार, वर्चुअल आईडी, यूआईडीएआई,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक