जीएसटी लागू होने के बाद बढ़े करदाता : टैली

जयजित दास | भुवनेश्वर Sep 05, 2017 09:46 PM IST

प्रमुख बिनजेस सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्रदाता टैली सॉल्यूशंस को उम्मीद है कि गैर पंजीकृत छोटे कारोबारी वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में आएंगे। गैर पंजीकृत कारोबारियों के अलावा मौजूदा छोटे कारोबारी भी टैली के नए जीएसटी रेडी सॉफ्टवेयर टैली ईआरपी 9 रिलीज 6 अपना रहे हैं। कंपनी के महाप्रबंधक हरीश राजपूत ने कहा, '10 लाख से ज्यादा वैट यूजर ने नया टैली संस्करण अपना लिया है। हमारे ग्राहकों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है।' 

 
जीएसटी लागू होने की तैयारी के दौरान टैली ने 7,000 से ज्यादा कार्यक्रम कराए हैं, जिससे लोगों को प्रशिक्षण दिया जा सके और नए कर की वजह से उन्हें दिक्कत न आए। उन्होंने कहा, 'हमारा जागरूकता कार्यक्रम इस बात पर केंद्रित था कि जीएसटी का कारोबार पर किस तरह से असर पडऩे जा रहा है। 1.3 करोड़ से ज्यादा कारोबार जीएसटी के दायरे में आएंगे ऐसे में 80 से 90 लाख नई तकनीक अपनाएंगे। हम छोटे कारोबारियोंं की मदद कर रहे हैं कि वे पंजीकरण कराएं और नए कर के दौर में काम करें।' 
कीवर्ड GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक