जीएसटीएन पर वित्त मंत्री से मिले गुजरात के वकील

अर्चिस मोहन | नई दिल्ली Nov 02, 2017 09:55 PM IST

कारोबारी संगठनों व बिक्री कर देखने वाले वकीलों ने आज वित्त मंत्रालय के सामने वस्तु एवं सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) से जुड़ी उन समस्याओं को रखा, जिनसे उन्हें जूझना पड़ रहा है।  गुजरात सेल्स टैक्स बार एसोसिएशन (जीएसटीबीए) अहमदाबाद का एक प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को वित्तमंत्री से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि उन्होंने 'गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी की सिफारिश' के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की।
 
जीएसटीबीए के एक बयान के मुताबिक जीएसटीएन की खामियों और उसके काम न करने और इससे संबंधित करदाताों व कर पेशेवरों को हो रही समस्याओं की ओर वित्त मंत्री का ध्यान आकर्षित किया। एसोसिएशन ने विभिन्न जीएसटी रिटर्न और फॉर्म दाखिल करने की अनुपालन प्रक्रिया को सरल किए जाने की मांग की।  गुजरात में अगले महीने चुनाव होने जा रहे हैं और जीएसटी लागू किए जाने को लेकर राज्य में खासा विरोध हो रहा है। एसोसिएशन ने कहा कि जेटली ने उनसे 30 मिनट तक बात की। छोटे कारोबारियों व व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले कॉन्फेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने उन कंपनियों की सीबीआई जांच कराए जाने की मांग की है, जो जीएसटी पोर्टल चला रही हैं। संगठन महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा, 'जीएसटी लागू होने के 4 महीने बाद भी जीएसटी पोर्टल का काम चल रहा है। इसकी वजह से कारोबारियों का मानसिक उत्पीडऩ हो रहा है।'  
कीवर्ड GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक