'जीएसटी की बुनियादी खामी दूर करे सरकार'

अर्चिस मोहन | नई दिल्ली Nov 10, 2017 09:59 PM IST

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की बैठक में हुए फैसले का जहां कुछ कारोबारी संगठनों ने स्वागत किया है, वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि यह उचित वक्त है कि नरेंद्र मोदी सरकार अपना अक्खड़ रवैया छोड़कर भारत के लोगों को हो रही पीड़ा को दूर करे। जीएसटी परिषद की बैठक खत्म होने के तुरंत बाद गांधी ट्विटर पर आए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस 'भाजपा को भारत में गब्बर सिंह टैक्स लागू नहीं करने देगी।' उन्होंने कहा, 'वे छोटे और मझोले कारोबार की कमर नहींं तोड़ सकते। अनौपचारिक क्षेत्र को बर्बाद कर लाखों लोगों को नौकरियां नहीं छीन सकते हैं।'
 
उन्होंने देश को उचित सामान्य कर देने की सलाह सरकार को दी। उन्होंने कहा कि सरकार को देश का वक्त केवल बातों में बर्बाद नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि केवल गाल बजाने में देश का समय नहीं बर्बाद किया जाना चाहिए। उन्होंने कुछ सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को जीएटी तैयार किए जाने में जो बुनियादी खामियां रह गई हैं, उन्हें खत्म करना चाहिए और भारत को 'उचित व आसान कर' व्यवस्था देनी चाहिए। 
 
उधर पटना में भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि जीएसटी लागू करते समय जेटली ने दिमाग नहीं लगाया और उन्हें पद से हटाया जाना चाहिए। सिन्हा ने कहा कि नोटबंदी से भी कालेधन को प्रणाली से बाहर करने का लक्ष्य हासिल नहीं हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार नोटबंदी और जीएसटी पर सिर्फ झूठ का सहारा ले रही है। सिन्हा ने बिहार के पूर्व विधानसभाध्यक्ष उदय नारायण चौधरी द्वारा आरक्षण पर आयोजित कार्यक्रम के मौके पर कहा, 'वित्त मंत्री ने जीएसटी को लागू करते समय दिमाग नहीं लगाया। यही वजह है कि आज उन्हें हर दिन जीएसटी में बदलाव करना पड़ रहा है। 
 
उन्होंने कहा कि जेटली ने जीएसटी का झमेला बना दिया।' सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री को नया वित्त मंत्री लाना चाहिए, यह बात मैं पूरी जिम्मेदारी से बोल रहा हूं। सिन्हा ने कहा कि कर दरों में बदलाव करने से अब राजस्व संग्रह में कमी आएगी। सिंन्हा ने कहा कि कर की दरों मेंं बदलाव से स्थिति नहीं संभवने वाली है, इसमें बुनियादी बदलाव किए जाने की जरूरत है। पूर्व वित्त मंत्री सिन्हा ने कहा, 'देश भर में छापा राज चल रहा है और आयकर अधिनियम के तहत मामले दर्ज किए जा रहे हैं। यह जानने में वर्षों लग जाएंगे कि जमा किया गया धन काला धन है या नहीं।'
कीवर्ड GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक