भारतीय अर्थव्यवस्था में अस्थाई विचलन के बाद आ रहा सुधार : जेटली

भाषा | सिंगापुर Nov 16, 2017 02:36 PM IST

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में आई गिरावट दूर हो गई है। अब इसने ऊपर की ओर बढ़ना शुरू कर दिया है। हाल में किए गए ढांचागत सुधारों से आए अस्थाई विचलन के बाद इसमें सुधार आ रहा है। मॉर्गन स्टेनली की वार्षिक बैठक में निवेशकों को संबोधित करते हुए जेटली ने यह बात कही। जेटली भारत : ढांचागत सुधार एवं आगे का विकास पथ विषय पर बोल रहे थे। उन्होंने भारत में उठाए गए व्यापक आर्थिक सुधारों के बारे में बात की। उन्होंने माना कि सरकार के ढांचागत सुधारों का परिणाम एक अस्थाई विचलन के तौर पर सामने आया है। जेटली ने कहा, मेरा मानना है कि अर्थव्यवस्था अपने निचले स्तर को छू चुकी है और अब इसे ऊपर की ओर बढऩा चाहिए। वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी वृद्धि हो रही है।

सम्मेलन के दौरान जेटली ने मॉर्गन स्टेनली के शीर्ष प्रबंधन के साथ मुलाकात की और प्रमुख संस्थागत वित्तीय निवेशकों और वरिष्ठ कोष प्रबंधकों को संबोधित किया। उन्होंने कहा, मैं अर्थव्यवस्था को कैसे बढ़ते देखता हूं। हमारे आधार मानक स्थिर हैं। पिछले तीन साल में हमारी वृद्धि सात से आठ प्रतिशत रही है। उन्होंने निवेशकों को भारत में मजबूत बैंकिंग क्षेत्र होने का भरोसा भी दिलाया। जेटली ने कहा, सूचना प्रौद्योगिकी योजना और बड़े पैमाने पर हाल में बड़े स्तर पर की गई पुन:पूंजीकरण की घोषणा से इसे (अर्थव्यवस्था को) तेजी मिलनी चाहिए। इन दो कदमों से बैंकों की क्षमता में सुधार होगा और वह अपने अधिशेष को छोटे और मध्यम आकार के काराबारों को ऋण के रूप में दे सकेंगे जिन्हें इस कोष की जरूरत होती है। यही वह क्षेत्र है जो बड़े पैमाने पर नौकरियां पैदा करता है और भारतीय अर्थव्यवस्था को चलायमान रखता है।

कीवर्ड अर्थव्यवस्था, सिंगापुर, अरुण जेटली, मॉर्गन स्टेनली, निवेशक, कोष, पूंजीकरण,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक