डिजिटल अर्थव्यवस्था के लिए होगी पहल

किरण राठी | नई दिल्ली Dec 04, 2017 09:52 PM IST

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद 14 दिसंबर को सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग की शीर्ष कंपनियों के प्रतिनिधि से मुलाकात करेंगे। इस बैठक में वर्ष 2022 तक एक लाख करोड़ डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था तैयार करने के मुद्दे पर बात की जाएगी।  रविशंकर प्रसाद ने जून में आईबीएम, विप्रो, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, टेक महिंद्रा, इंटेल कॉरपोरेशन, पैनासॉनिक इंडिया, हाइक, प्रैक्टो जैसी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों और नैस्कॉम और आईएएमएआई जैसे संगठनों के प्रतिनिधियों से विचार विमर्श कर डिजिटल अर्थव्यवस्था का रोडमैप तैयार करने का सुझाव दिया था।
 
डिजिटल क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए  नई इलेक्ट्रॉनिक्स नीति, सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट नीति, स्टार्टअप क्लस्टर योजना, डेटा प्रोटेक्शन सिक्योरिटी पॉलिसी तैयार करने जैसी कई पहलों की घोषणा सरकार ने की थी। मंत्रालय ने डिजिटल भुगतान, मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, स्किल इंडिया, 100 स्मार्ट सिटीज, 50 मेट्रो परियोजनाएं और स्वच्छ भारत को डिजिटल अर्थव्यवस्था का अहम जरिया बताया है। प्रसाद ने हाल ही में बिज़नेस स्टैंडर्ड को बताया था कि साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में देश में 5-7 सालों में करीब 50-70 लाख नौकरियों के मौके तैयार होंगे। डिजिटल अर्थव्यवस्था से 3 करोड़ रोजगार के मौके वर्ष 2024-25 तक तैयार होने का लक्ष्य है।
कीवर्ड digital, economy, IT,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक