युवाओं में जम रहा बिटकॉइन का सिक्का

राजेश भयानी | मुंबई Dec 15, 2017 10:35 PM IST

निरमा यूनिवर्सिटी अहमदाबाद में बिजनेस प्रबंधन के 20 वर्षीय छात्र साहिल शाह ने चार साल पहले बिटकॉइन में थोड़ा थोड़ा निवेश करना शुरू किया और तब से निवेश करते जा रहे हैं। शाह ने अपनी यूनिवर्सिटी शोध पत्र आभासी मुद्रा पर ही प्रस्तुत किया है। शाह कहते हैं कि बिटकॉइन कैंटीन और व्हाट्सऐप ग्रुप पर विचार विमर्श का एक बड़ा मुद्दा बन गया है। 

हालांकि वह और उनके मित्र इसे कोई सट्टा या बुलबुला नहीं मानते। वे बस परंपरागत विचारकों के विचारों से अलग इस नई तकनीक और उसके फायदे को समझना चाहते हैं। शाह के अनुसार, 'मेरे कुछ मित्र भी कम रुपयों के साथ इसमें हाथ आजमाने की कोशिश कर रहे हैं।' मुंबई उपनगरीय ट्रेनों में भी यात्रियों के बीच बिटकॉइन चर्चा का विषय बना हुआ है। हालांकि इनमें से बहुत से लोग इसे नहीं समझते लेकिन वे अपने मोबाइल में बिटकॉइन एक्सचेंज ऐप डाउनलोड कर इसमें थोडा रुपया रखने में भी कोई संकोच नहीं कर रहे।

बिटकॉइन में एक बार फिर बढ़त का दौर जारी है और शुक्रवार को इसने 18,000 डॉलर (लगभग 11,53,268 रुपये) के स्तर को छू लिया। निवेशकों और सट्टेबाजों के अलावा धन अंतरण एवं भुगतान दूसरे ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें बिटकॉइन का उपयोग बड़ी संख्या में हो रहा है। एक संगीत पेशेवर विदेश में अपने कार्यक्रम का शुल्क पेपल के माध्यम से लेते थे। लेकिन इस पर उन्हें मुद्रा विनिमय शुल्क सहित 6 से 7 प्रतिशत तक शुल्क चुकाना पड़ता था। पिछले वर्ष उन्होंने बिटकॉइन के रूप में फीस लेना शुरू किया और बिना किसी शुल्क के उसे भारतीय एक्सचेंज पर बेच दिया। अब वे भी एक बिटकॉइन निवेशक बन चुके हैं। 

बेंगलूरु के 23 वर्षीय सॉफ्टवेयर पेशेवर अश्रथ गोविंद स्टार्टअप विलूप नेटवक्र्स के द्वारा विदेश में आईटी सेवा दे रहे हैं। पिछले पांच वर्ष से वे बिटकॉइन के रूप में सुविधा शुल्क ले रहे हैं। पहले वह बिटकॉइन को रुपयों में बदल लेते थे, लेकिन जब तीन वर्ष पहले उन्होंने बिटकॉइन की कीमत को बढ़ते देखा तो इसमें से कुछ को निवेश के तौर पर रखना प्रारंभ कर दिया। 

गोविंद कहते हैं, 'बिटकॉइन की कीमतों में जबरदस्त उछाल आई है और मैं मिलने वाली राशि का कुछ हिस्सा निवेश के तौर पर रखने लगा हूं। बिटकॉइन में अभी भी बहुत क्षमता बाकी है और इसका बाजार पूंजीकरण 10 खरब डॉलर को पार कर जाएगा।' वे बिटकॉइन में व्यापार भी करते हैं। साथ ही, इससे होने वाले लाभ पर समय के हिसाब से अल्पावधि या दीर्घावधि पंूजीगत लाभ कर भी चुकाते हैं। हालांकि आयकर विभाग ने बिटकॉइन पर अभी कोई कर नहीं लगाया है लेकिन बिटकॉइन निवेशकों को इसके जद में जल्द ही आने की संभावना है। एक वर्ष पहले, एक बिटकॉइन निवेशक ने आयकर विभाग के अधिकारी से इस बारे में पूछा था। अधिकारी ने जवाब दिया कि जब तक आरबीआई या सरकार ने इसे अवैध घोषित नहीं करते हैं, इस पर होने वाले लाभ पर कर लगाया जा सकता है। 
तीन वर्ष से अधिक के लिए निवेश करने पर दीर्घावधि पूंजीगत लाभ कर 20 प्रतिशत होता है, जबकि अल्पावधि पूंजीगत लाभ कर आयकर स्लैब के अनुसार ही लगाया जाता है। निवेश के तौर पर अभी भारत में बिटकॉइन का सीमित उपयोग है। हालांकि शाह ई-कॉमर्स वेबसाइट से गिफ्ट वाउचर खरीदने और मोबाइल फोन रीचार्ज करने के लिए बिटकॉइन का ही उपयोग करते हैं। हाल ही में उसने अपनी गिटार क्लास की फीस के लिए भी बिटकॉइन से भुगतान किया है। बिटकॉइन में निवेश पर शाह की रणनीति स्पष्ट है और वह एक बड़े वित्तीय रणनीतिकार की तरह बात करते हैं। वह कहते हैं, 'बिटकॉइन ट्रेडिंग या सट्टïे के लिए नहीं है। जो भी इसमें निवेश का इच्छुक है उसे एक व्यवस्थिक निवेश योजना (एसआईपी) बनानी चाहिए और अपनी निवेश लागत के औसत के हिसाब से इलमें लगातार निवेश करते रहना चाहिए।'

केवल बिटकॉइन ही एकमात्र क्रिप्टोकरेंसी नहीं है जिसमें तेजी आई बल्कि इथीरियम, लिटकॉइन, रिपल, आयोटा और अन्य क्रिप्टोकरेंसी भी बाजार में मौजूद हैं। एक निवेशक ने बताया, 'दूसरी क्रिप्टो करेंसी जिन्हें वैकल्पिक कॉइन (ऑल्ट कॉइन) के नाम से जाना जाता है उसे केवल बिटकॉइन के जरिये ही खरीदा जा सकता है। आपको सबसे पहले बिटकॉइन ही खरीदना होगा। आप भारतीय एक्सचेंज प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर बिटकॉइन खरीद सकते हैं और उसके साथ ही आप दूसरे विदेशी एक्सचेंज मसलन बिटफिनेक्स से दूसरे ऑल्ट कॉइन खरीद सकते हैं।' हालांकि इसका दूसरा पहलू यह है कि ग्राहक की पूरी जानकारी रखने वाले बैंकिंग चैनल का इस्तेमाल कर भारतीय बिटकॉइन एक्सचेंज से खरीदे गए बिटकॉइन का इस्तेमाल विदेश में पूंजी भेजने के लिए भी किया जा सकता है। हालांकि ऐसा सभी लोग नहीं कर रहे हैं लेकिन संबंधित प्राधिकारियों के लिए यह चिंता की बात होगी। 

एक बिटकॉइन ट्रेडर ने बताया कि टेलीग्राम मोबाइल ऐप का इस्तेमाल बिटकॉइन का हस्तांतरण करने के लिए किया जाता है जो व्हाट्सऐप की तरह का ही एक मैसेजिंग ऐप है। लेकिन इस टेलीग्राम मोबाइल ऐप में मजबूत सुरक्षा फीचर हैं जिसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। वैश्विक स्तर पर करीब 90 फीसदी बिटकॉइन सौदे खासतौर पर इसी ऐप के जरिये किए जा रहे हैं। नियामक इस तरह के प्लेटफॉर्म को लेकर सहज नहीं हैं। बिटकॉइन निवेशक भी ऐसी चेतावनी देते हैं कि ऐसी कई पोंजी योजनाएं भी हैं जिनसे नए निवेशकों को सावधान रहना चाहिए।
 
कीवर्ड bitcoin, koinex, exchage, interest, litecoin, बिटकॉइन , आभासी मुद्रा,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक