जारी रहेगी सरकार की राजकोषीय मजबूती योजना : डॉयचे बैंक

भाषा | नई दिल्ली Jan 18, 2018 04:16 PM IST

वैश्विक वित्तीय कंपनी डॉयचे बैंक का अनुमान है कि इस बार बजट के लोक-लुभावन होने के बावजूद सरकार राजकोषीय मजबूती के मध्यम अवधिक लक्ष्यों पर कायम रहेगी। बैंक की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार राजकोषीय घाटे को सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के तीन प्रतिशत पर रखने का लक्ष्य तय करेगी। वैश्विक वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को संशोधित कर जीडीपी का 3.4 प्रतिशत किया जा सकता है।

डॉयचे बैंक के शोध नोट में कहा गया है कि हमारा अनुमान है कि सरकार 2018-19 में राजकोषीय घाटे का लक्ष्य जीडीपी के तीन प्रतिशत पर खेगी। चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को बढ़ाकर 3.4 प्रतिशत किया जा सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017-18 में राजकोषीय घाटा लक्ष्य से 0.2 प्रतिशत अधिक रहेगा। राजस्व और खर्च के मोर्चे पर कई समायोजनों के बाद भी राजकोषीय घाटा लक्ष्य को पार कर जाएगा। इसमें कहा गया है कि 1 फरवरी को पेश होने वाला 2018-19 का बजट लोकलुभवन होगा और इसमें सामाजिक क्षेत्र पर खर्च बढ़ाया जाएगा। इससे राजकोषीय स्थिति अधिक प्रभावित नहीं होगी।

कीवर्ड राजकोषीय, डॉयचे बैंक, बजट, रिपोर्ट, जीडीपी, शोध, राजस्व, खर्च,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक