केवाईसी सीमा समाप्त, मोबाइल वॉलेट खो सकते हैं 40 प्रतिशत उपभोक्ता

करण चौधरी | नई दिल्ली Mar 01, 2018 03:09 PM IST

बुधवार को समाप्त हुई केवाईसी सीमा के कारण अरबों डॉलर खर्च कर 50 करोड़ से अधिक उपभोक्ताओं को जोडऩे वाले मोबाइल वॉलेटों के ग्राहकोंं की संख्या में 40 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है। उद्योगों से जुड़े सूत्रों के अनुसार, पेटीएम, एमेजॉन-पे, फोन-पे, मोबिक्विक समेत सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को अपने उपभोक्ताओं की संख्या में कमी होने का भय सता रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकांश उपभोक्ता केवाईसी जानकारी जोडऩे से बच रहे हैं और इस कारण एमेजॉन-पे के उपभोक्ताओं की संखख्या में 30 प्रतिशत तक की कमी आ गई है।
भारतीय भुगतान परिषद (पीसीआई) द्वारा गठित प्रीपेड पेमेंट इंस्टुमेंट (पीपीआई) समिति के सह-अध्यक्ष सुनील कुलकर्णी कहते हैं, 'ग्राहक केवाईसी जानकारियां साझा करने से बचना चाहते हैं और उन्हें डिजिटल लेनदेन के लिए प्रेरित करना होगा। आरबीआई द्वारा जारी दिशानिर्देशों पर उद्योग काम कर रहा है लेकिन केवाईसी नियम डिजिटल लेनदेन को बहुत अधिक प्रोत्साहित नहीं करते।'
द मोबाइल वॉलेट के संस्थापक और प्रबंध निदेशक विनय कलंत्री कहते हैं, 'भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को केवाईसी अपडेट करने के लिए नए निर्देश जारी कर दिए हैं, लेकिन येे काफी बोझिल हैं।' अभी तक केवल 45 पप्रतिशत उपभोक्ताओं ने अपनी केवाईसी जानकारी साझा की है और इस कदम से ग्राहक संख्या में कमी आएगी।
कीवर्ड KYC, mobile wallet, Paytm, Amazon Pay, केवाईसी, मोबाइल वॉलेट, पेटीएम, एमेजॉन-पे, फोन-पे,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक